Comments & Ratings: My Life
Next >>
removed thx
314 days ago

|)ilip d!|!(|.. Well written
317 days ago

|)ilip d!|!(|.. Rating: 10
317 days ago

removed Thanks all of u
318 days ago

Nadeem Ahmad Rating: 10
318 days ago

💞 Rajni ॐ 🐙 ॐ nice
318 days ago

💞 Rajni ॐ 🐙 ॐ Rating: 10
318 days ago

Deepak ..... Rating: 10
318 days ago

🍁Datta A🍁 Very nice lines madam
318 days ago

🍁Datta A🍁 Rating: 10
318 days ago

┉┈ ┈┉ very nice thank you for sharing
318 days ago

┉┈ ┈┉ Rating: 10
318 days ago

BIGdost ╭∩╮(︶.. brilliant Job Dost
318 days ago

BIGdost ╭∩╮(︶.. Rating: 10
318 days ago

sneh 💙 Nice
318 days ago

sneh 💙 Nice
318 days ago

sneh 💙 Rating: 10
318 days ago

ashok _*❤ॐ ज़िंदगी एक ही बार मिलती है सबको ,खुद को समझाने लगी हूँ अब !
नहीं ऐसा नहीं कि किसीकी परवाह नहीं मुझे ,
पर इसे जताने से कतराने लगीं हूँ अब !
ख़ामोशी से काम किये जाती हूँ ,
साथ साथ गुनगुनाये जाती हूँ |
कुछ दिल के करीब है मेरे, कुछ मेरा ख्याल रखतें है ,
कम से कम नकली चेहरे पहचानने लगी हूँ अब !
उनके हाथो में मेरी ज़िंदगी की कमान क्यूँकर हो ,
जिन्हे परवाह नहीं मेरी,खुद को यही समझाने लगी हूँ अब !
वक़्त का तकाज़ा था ,बदलने लगी हूँ अब !
शब्दों को माप तौल कर कहने लगी हूँ अब..!!✍🏻
... ये पंक्तिया मुझे भा गयी. पूरी कविता सुंदर है.
मुझे नही पता था आप इतनी कवयित्री भी हो, रेखा. (◔ ‿◔)
318 days ago

ashok _*❤ॐ Rating: 9
318 days ago

Vijay The lone Gazab yaar
318 days ago

Vijay The lone Rating: 10
318 days ago

removed Thx
319 days ago

💚🌟 Ȑồƴấℓ💙҉.. तोल मोल के बोल ......
319 days ago

💚🌟 Ȑồƴấℓ💙҉.. Rating: 10
319 days ago

nilesh agarwal very nice
320 days ago

nilesh agarwal Rating: 10
320 days ago

°``°•.❤ղíkŚhí.. EXCELLENT REKHA JI
ज़िंqदगी एक ही बार मिलती है सबको ,खुद को समझाने लगी हूँ अब !
नहीं ऐसा नहीं कि किसीकी परवाह नहीं मुझे ,
पर इसे जताने से कतराने लगीं हूँ अब !
320 days ago

°``°•.❤ղíkŚhí.. Rating: 10
320 days ago

removed Keep pace with time.... he is a great teacher and leveler too... कम से कम नकली चेहरे पहचानने लगी हूँ अब !
उनके हाथो में मेरी ज़िंदगी की कमान क्यूँकर हो ,... meaningful lines..
320 days ago

removed Rating: 10
320 days ago

Next >>