Writings

Most Recent : All
Submit your own.  My Writings
Browse
Most Viewed
Top Rated
Most Recent

Category
All
Joke
Poem
Recipe
Other

Write your own
score: 9.30162

average: 10.0

on: Aug 9, 2018
ratings: 2

tags: ..
language: hi

ज़िंदगी तूने जो सिखाया उसे भूलना चाहती हूँ

ए ज़िन्दगी! इस बार मैं तुझे ही समझना चाहती हूँ

उतार रही हूँ हर वह सरनामा जो दिया तूने

कौन हूँ मैं, बस अब यही जानना चाहती हूँ

न ग़म ही सच्चा है न सिर्फ़ ख़ुशी है मक़सद

मेरी जिदगी का सही मायने तलाशना चाहती हूँ

मिटा रही हूँ फ़लसफ़े जो निफाक और अथला हैं

कोरी सलेट पे फिर मैं ,खत रूह को लिखना चाहती हूँ

खुली आँखों की बरसों की नींद को झाड़

मूँद कर आँखें कुछ पल, मैं अब जागना चाहती हूँ
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

average: 0

on: Aug 9, 2018
ratings: 0

language: hi

धत्


सीधा
मेरी आँखों में
बेधड़क घूरती
बिल्ली सा
वह एक
निडर ख़्याल तेरा
टाँगों के बीच
पूँछ दबा
मेरी एक धत् से
भाग लिया।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Aug 9, 2018
ratings: 2

tags: ..
language: hi

है एक दोस्त जो रखता है ख़बर मेरी…..

ख़ामोश पढ़ता है वो हाल मेरा

दबे पाँव आता है फिर लौट जाता है

न अश्क़ों को मेरे देता है अब वो काँधा

न लबों पे मेरी मुसकान बुलाता है

मेरे नाम को आवाज़ नहीं देता है वो

न अब मरहम मेरे ज़ख़्मों पे लगाता है

है शायद बहुत नाराज़ वो मुझसे

रूठ गयें हैं लफ़्ज़ भी जो मनाते उसे

खामोश लिखती हूँ मैं हाल अपना

है एक दोस्त जो रखता है अब भी ख़बर मेरी……..
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

average: 10.0

on: Aug 9, 2018
ratings: 5

tags: friends
language: hi

हर इक सांस कयामत है तेरे जाने के बाद,
धड़कनें भी डराती हैं लंबे वीराने के बाद.

कुछ यूँ किया हाल उसने मेरी वफाओं का,
सारा घर जला गया खुद सजाने के बाद.

इसी उम्मीद में बरसों आँसू पोंछे नहीं मैंने,
वो सीने से लगाता है बहोत रूलाने के बाद.

कोई आईना लाये तो ज़रा देखूँ मैं इक बारी,
कोई कैसा लगता है सबकुछ गंवाने के बाद.
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

by: Saloni
average: 10.0

on: Aug 6, 2018
ratings: 5

tags: याद
language: hi

वो बड़ा याद आता है,
उसके खिलखिला के हँसना,

वो बड़ा याद आता है,
फिर वो छिप जाना,

वो बड़ा याद आता है,
नन्हे नन्हे कदम बढ़ाए,
आँखों से ओजल। हो जाये,,

वो बड़ा याद आता है,
वो पल बड़ा याद आता है,
मेरे कानों में मीठे स्वर में ,
माँ शब्द बोलना,

वो बड़ा याद आता है,
चुपकै से मेरे साडी के पल्लू में,
छिप जाना,

वो बड़ा याद आता है,
जोर जोर से पुकारना ,
बाँहों में लिपट जाना,

वो बड़ा याद आता है,
उसे लोरी सूनाना,

वो बड़ा याद आता है,
कभी मेरी नींन्दे चुराना,
वो बड़ा याद आता है।
सालोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Aug 3, 2018
ratings: 2

tags: Poem
language: hi

अश्क भी बहाना ,बादल भी बहाना ,
बहाना इश्क का इल्म ,दिलरुबाना

आब ही ईबादत, मौसम है बारिशाना
बहाना बरसती ,आँखे दिलरुबाना

तपन सही है ,तन्हाई में बहुत रुहाना
नूर ए नजर ,फकत तुम दिलरुबाना

मिलकर बीछडे ,सावन कइ जिंदगी
सनम रुहानी खेल, बहुत है बीरहाना

टुटती साँस की डोर में जुडी महोबत
बरस जा सनम , दिल से दिलरुबाना
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 29, 2018
ratings: 2

language: hi

उलझा रही ह ज़िन्दगी मुझको,
न जाने कैसा आंन्दाज़ है जिंन्दगी,
यह कश्मकश सी ज़िन्दगी,
न जाने कैसे बस गए मुझमे,
यह हम खो गये तुज्झ में।
सालोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.3407

average: 9.66667

on: Jul 27, 2018
ratings: 4

tags: Poem
language: hi

बहुत झेला हैं अँधेरा कलियों ने,
यह खुला आसमान रहने दो ,

नसीब हो तराने दिल खुशनुमा
यह फूलों की जवानी महकने दो

बडा खुशनुमा है नीला आसमान
सितारों की तरह टिमटिमाने दो

गजब है हुश्न ,चाँद का यह दिल
चाँदनी तरह चमकने दो,


बडी रहेमदिल है कुदरत ,जहाँ
करिश्मा ए दिल बहकने दो

वक्त की आगोश में पलती जिंदगी
जिंदादिल कुछ पनपने दो
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.43918

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 25, 2018
ratings: 4

language: hi

लिखते है हम,
उनके लिये ,
जिन्होंने कभी पढ़ा नहीं हमें,
लोग पढ़ते है मेरी शायरी,
और,
खो जाते है ख्यालो में,
कुछ लोग पाने को,
प्यार कहते है,
कुछ लोग खोने को,
प्यार कहते है,
हम तो निभाने को ,
प्यार कहते है।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

average: 10.0

on: Jul 25, 2018
ratings: 5

tags: Sujju
language: hi

ै आवश्यकता है एक गर्ल फ्रेंड की :-

निम्नलिखित पद के लिए आवेदन निमंत्रित की जाती है ! सभी प्रकार के पैकेज, लाभ आदि का विवरण नीचे दिया हुआ है , कृपया आवेदन करने से पहले सभी नियम , शर्ते एवं लाभ, पूर्ण रूप से पढ़ कर , अपनी अहर्ता जांच ले !

पद : जूनियर गर्लफ्रेंड / सहायक प्रेमिका

अनुभव : कम से कम दो लडको की गर्ल फ्रेंड रह चुकी हो, तथा गर्ल फ्रेंड के सभी दायित्वों में पारंगत हो ! (अगर अन्य अहर्ताये पूरी हो तो फ्रेशेर/ कम अनुभव वाली पर भी विचार किया का सकता है )

आयु : 18-35 वर्ष (अगर कोई लड़की/महिला दीखने में अच्छी है , और ज्यादा उम्र होने के वावजूद इसी उम्र की लगती हो , तो वह अप्लाई कर सकती है) लम्बाई , चौड़ाई , वजन , रंग का कोई भेद नहीं है !
लाभ तथा मानदेय :- सकल मासिक (Gross Monthly)

• 2 उपहार प्रति महिना (अधिकतम मूल्य Rs 5000) – (कोई मूल्यवान धातु जैसे सोना, चांदी या बहुमूल्य रत्न जैसे हीरा इत्यादि की अपेक्षा न रखे)

• लक्ज़री कार एवं बाइक में मुफ्त सवारी , (अधिकतम १ घंटा प्रतिदिन).

• कुल्फी / आइसक्रीम/ चोकलेट , प्रतिदिन

• प्रतिदिन Rs 200 के समकक्ष मुफ्त नाश्ता जैसे समोसा / ब्रेड पकोड़ा इत्यादि

• मुफ्त मूवी (ऊपर कोने वाली सीट पर ) हर रविवार !

• शॉपिंग माल्स में एक माह में अधिकतम तीन बार शॉपिंग (अधिकतम Rs 2000 की शॉपिंग एक बार में)

• महीने में एक बार मुफ्त ‘’ब्रांडेड जीन्स /टी-शर्ट ‘’ अथवा ‘’स्कर्ट / टॉप ‘’ अथवा ‘’डिज़ाइनर परिधान’’ पसंदानुसार (लेकिन पिछले महीने का आचरण संतोष जनक होने पर ही यह सुविधा उपलब्ध है )

• मिस्ड कॉल म|रने के लिए , फ़ोन चालू रखने हेतु Rs 100 का रिचार्ज प्रति महिना !

कृपया ध्यान दे के ऊपर लिखे सब प्रावधान तभी मान्य है जब आपका आचरण आशा अनुरूप एवं संतोषजनक होगा ! यह पद एक वर्ष के लिए अस्थायी होगा , उसके बाद पूर्ण कालिक प्रेमिका बनाने के लिए विचार किया जायेगा ! इसमें सफल होने के बाद प्रतिवर्ष एक नवीनतम स्मार्ट फ़ोन , जैसे IPHONE या Galaxy S4 , दिया जायेगा, तथा ऊपर लिखी सभी सुविधाए अनलिमिटेड रूप से प्राप्त होंगी ! स्थायी होने के बाद वर्ष में दो बार हीरा या सोना के जवाहरात दिए जायेंगे !

जो महिलाये इस ऑफर के लिए अपने आपको उपयुक्त नहीं मानती है , उन्हें मन छोटा करने की कोई जरूरत नहीं है ! वो ‘’Refer a freind” सुविधा का लाभ उठा कर अपनी सहेलियों को रेफेर कर सकती है ! प्रतियेक सफल रिफरेन्स पर उन्हें फाइव स्टार होटल में लंच अथवा कैंडल लाइट डिनर , उपहार / कृतज्ञता स्वरुप कराया जायेगा !

विज्ञापनदाता द्वारा लिया गया निर्णय अंतिम होगा ! इसमें कोई वाद विवाद स्वीकार नहीं !

कृपया इस विज्ञापन के पांच दिनों के अन्दर अपना बायो-डाटा के साथ आवेदन करे ! (बिना फोटो कोई आवेदन स्वीकार नहीं जायेगा)
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.26867

average: 9.5

on: Jul 22, 2018
ratings: 3

tags: Tkb
language: hi

*हास्य कविता*

😀😀😀😀😀😀😀


अक्ल बाटने लगे विधाता,

             लंबी लगी कतारी ।

सभी आदमी खड़े हुए थे,

            कहीं नहीं थी नारी ।


सभी नारियाँ कहाँ रह गई,

          था ये अचरज भारी ।

पता चला ब्यूटी पार्लर में,

          पहुँच गई थी सारी।


मेकअप की थी गहन प्रक्रिया,

           एक एक पर भारी ।

बैठी थीं कुछ इंतजार में,

          कब आएगी बारी ।


उधर विधाता ने पुरूषों में,

         अक्ल बाँट दी सारी ।

ब्यूटी पार्लर से फुर्सत पाकर,

        जब पहुँची सब नारी ।


बोर्ड लगा था स्टॉक ख़त्म है,

        नहीं अक्ल अब बाकी ।

रोने लगी सभी महिलाएं ,

        नींद खुली ब्रह्मा की ।


पूछा कैसा शोर हो रहा है,

         ब्रह्मलोक के द्वारे ?

पता चला कि स्टॉक अक्ल का

         पुरुष ले गए सारे ।


ब्रह्मा जी ने कहा देवियों ,

          बहुत देर कर दी है ।

जितनी भी थी अक्ल वो मैंने,

          पुरुषों में भर दी है ।


लगी चीखने महिलाये ,

         ये कैसा न्याय तुम्हारा?

कुछ भी करो हमें तो चाहिए,

          आधा भाग हमारा ।


पुरुषो में शारीरिक बल है,

          हम ठहरी अबलाएं ।

अक्ल हमारे लिए जरुरी ,

         निज रक्षा कर पाएं ।


सोचकर दाढ़ी सहलाकर ,

         तब बोले ब्रह्मा जी ।

एक वरदान तुम्हे देता हूँ ,

         अब हो जाओ राजी ।


थोड़ी सी भी हँसी तुम्हारी ,

         रहे पुरुष पर भारी ।

कितना भी वह अक्लमंद हो,

         अक्ल जायेगी मारी ।


एक औरत ने तर्क दिया,

        मुश्किल बहुत होती है।

हंसने से ज्यादा महिलाये,

        जीवन भर रोती है ।


ब्रह्मा बोले यही कार्य तब,

        रोना भी कर देगा ।

औरत का रोना भी नर की,

        अक्ल हर लेगा ।


एक अधेड़ बोली बाबा,

       हंसना रोना नहीं आता ।

झगड़े में है सिद्धहस्त हम,

       खूब झगड़ना भाता ।


ब्रह्मा बोले चलो मान ली,

       यह भी बात तुम्हारी ।

झगड़े के आगे भी नर की,

       अक्ल जायेगी मारी ।


ब्रह्मा बोले सुनो ध्यान से,

       अंतिम वचन हमारा ।

तीन शस्त्र अब तुम्हे दिए,

       पूरा न्याय हमारा ।


इन अचूक शस्त्रों में भी,

       जो मानव नहीं फंसेगा ।निश्चित समझो, 

       उसका घर नहीं बसेगा ।


कहे कवि मित्र ध्यान से,

       सुन लो बात हमारी ।

बिना अक्ल के भी होती है,

       नर पर नारी भारी।


---------
समझे दोस्तो... पंगा नहीं लेने का वारी शक्ति से... बाबा रे बाबा...
🤔😇💃👣👓😜😃😂

-- 
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55823

average: 9.875

on: Jul 21, 2018
ratings: 9

tags: Poem
language: hi

आखरी साँस है कब , क्या पता है जिंदगी मेरी
लफ्ज से गुजरा हुं ,हकीकत बयाँ जिंदगी मेरी

चाहत की रंगीनियों से सराबेर हुं मैं यकीनन ही
पायी है महोबत दोस्ताना , प्यार भरी जिंदगी मेरी

उसुल परस्ती मैं जीना ,अंजाम ए महोबत दुनिया
बेउसुल आशियाँ ए महोबत , ईबादत जिंदगी मेरी

बेहद चाहा है ,मिशाल क्या दु जहाँ की मैं याराना
चाँद का हुश्न नजरों में , नजर ए नूर जिंदगी मेरी

मेरा हक़ नही ,फर्ज है , सराहना लफज में हयात
मेरी दुआ आपके लीए , फितरत यह जिंदगी मेरी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.60974

average: 9.9

on: Jul 19, 2018
ratings: 11

tags: friends
language: hi


यकीन मानो, मैं तुम्हारे उन कैदियों में से हूँ,

जो खुले दरवाजे देखकर भी फरार नहीं होते

*फ़लक तक साथ चलने की दुआ बाद में कीजिए,*

*ज़िन्दा हूं ज़मीं पे मैं, पहले यहां तो वफ़ा कीजिए...*

कहने को तो पूरी क़ायनात पड़ी है....

सिमटना मगर मैं ,तेरी ही बाहों में चाहता हूँ .

इँतजार करते करते एक और रात बीत जायेगी,

पता हैं तुम नहीं आओगे और ये तनहाई जीत जायेगी...

कहाँ‬ मिलता है कभी कोई समझने वाला,
‪जो‬ भी मिलता है बस समझा के चला जाता है !!
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

average: 10.0

on: Jul 18, 2018
ratings: 3

tags: Poem
language: hi



आज़माईश क्या ,वजूद ओर वजह भी क्या
मन के पार खेल ,तेरा रुह ए मस्त जिंदगी

अंजुमन ए इश्क ,गजब शम्मा का जलना ही
बेफीक्र मरना पतंगे का, गज़ब की जिंदगी

ना तेरी कभी रुसवाई, ना मनाही मेरी तरफ से
गज़ब गीला सीकवा बीना , दोस्ताना जिंदगी

फूलों की नजाकत लीए ,संभाला हर लम्हा ही
शबनमी अहेसास ,बूंद नूराना चमकती जिंदगी

 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

average: 10.0

on: Jul 16, 2018
ratings: 3

tags: Poem
language: hi

एक नई शहर , एक नया मकाम देदे
ओ महोबत जीने का, बहाना एक देदे

तुट जाये भेद भरम की , सारी दिवारे
साँस विश्वास दिल में गज़ब का भर दे

मिले रंगे नूर, आयना ए दिल हर अंदाज़
जिंदगी जीने का , ऐसा कोई पैगाम देदे

हसरतों का खुले द्वार , हसीन चहेरों पर
मुस्काराते फूलों जैसा, एक चहेरा देदे

धुल जाये सारे , रंज़ ओ गम़ के साये भी
रोशन दिल हो, सुनहरी नई एक शहर देदे
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.43918

average: 10.0

on: Jul 13, 2018
ratings: 4

tags: friends
language: hi

लिखते है सदा उन्हीं के लिए...
जिन्होंने हमें कभी पढ़ा ही नहीं..
मुझ पर सितम ढहा गए मेरी ही ग़ज़ल के शेर,
पढ़-पढ़ के खो रहे हैं वो गैर के ख्याल में।
आज उस ने एक दर्द दिया तो मुझे याद आया,
हमने ही दुआओं में उसके सारे दर्द माँगे थे।
कुछ लोग खोने को प्यार कहते हैं,
तो कुछ पाने को प्यार कहते हैं,
पर हकीक़त तो ये है,
हम तो बस निभाने को प्यार कहते हैं…
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.36691

average: 9.6

on: Jul 9, 2018
ratings: 6

tags: friends
language: hi

सिमट कर तेरी बांह में जरा सा खोना ही तो था
लगा लेती गले से मुझे जरा सा रोना ही तो था ।।

सो न पाया सारी रात जागता रहा अक्सर
घुमा देती सर पर हाथ रख कर जरा सा सोना ही तो था। ।।।

ख्वाबों की हसीन दुनिया में हम भी भ्रमण कर लेते!!
इक दूसरे में घुल कर अपना पराया जानना ही तो था ।।

नशीली आखें , बिखरे बाल ,स्वछन्द विचार हाँ यही था परिचय तुम्हारा!!
हमें बुनना प्यार का ताना -बाना ही तो था। ।

इक अजब सी कशिश है तुम्हारी रेशमी बालों में। ।
न चाहते हुए भी, मुझे उनमे रास्ता भूल जाना ही तो था। ।

देखना , चाहना , माँगना , रूठना,,या खो देना, हिस्सा है प्रेम का ।
लेकिन तुम्हे तो बस बेवफा कहलाना ही तो था। ।

इतना तनहा कर दिया , कि खुद से ही नफरत करने लगा हूँ मैं। ।
इक कदम मुझे, इक कदम तुम्हे बढ़ाना ही तो था। ।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.39987

average: 9.55556

on: Jul 9, 2018
ratings: 10

tags: Friends
language: hi

दिल लहूलुहान हुआ इश्क़ की चाह में,
फूल और काँटे हैं जिंदगी की राह में।

अज़ीब उलझन है जिंदगी के सफ़र में,
ग़ुलाब यहाँ खिलते हैं काँटों की पनाह में।

इतना ज़ुल्म न कर ओ चाँद आसमाँ पर,
फूल को काँटे कह बैठें इंतजारी की डाह में।

सागर क्या चीज है गहराई मेरे दिल की देख,
वह सरमा के पानी हुए डूबकर अथाह में।

काँटों को फूलों से मिलने की इजाज़त नहीं,
फिर भी वे बदनाम है फूलों की परवाह में।"
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.52702

average: 9.85714

on: Jul 8, 2018
ratings: 8

tags: Poem
language: hi

,फरेब है , जीस्मी साये से जुड जाना
पंच तत्व ,मीट्टी ,आब पवन जुड जाना

जजबात की बात ,उफान पर आ जाये
हाल ए दिल रुहाना , खुबसुरत हो जाना

गुल ए नूर ,खील जाना ,भाव में भरकर
भीगा भीगा शबनमी , हाल हो जाना

कभी रुस्वाई ,कभी गीला सीकवा भी
मनाही के दौर से , अजीब गुजर जाना

कुचे के कब्र तक ,सफर है यह जिंदगी
महोबत में दिल ए यार ,फना हो जाना

फरेब है हाल ए जीस्म ,बहलाहट जिंदगी
अबदल रुह में बस , नूराना हो जाना
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.53147

average: 10.0

on: Jul 4, 2018
ratings: 6

tags: Friends
language: hi

बीतता वक़्त है, लेकिन !*
*ख़र्च, हम हो जाते हैं..!!*

कैसे *"नादान"* हैं हम.....

*दुःख आता है तो,*
*"अटक" जाते हैं।*
*औऱ*
*सुख आता है तो,*
*"भटक" जाते हैं।*

लोग मुझसे पूछते है,*

*दर्द की कीमत क्या है ?*

*मै बोला मुझे पता नही,*
*लोग मुझे मुफ्त मे दे जाते है !*
 
Rate & comment on this.
 
 
<<1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13  [14]  15 16 17 18 19 20  >>