Writings

Most Recent : All
Submit your own.  My Writings
Browse
Most Viewed
Top Rated
Most Recent

Category
All
Joke
Poem
Recipe
Other

Write your own
score: 9.52702

by: Saloni
average: 9.85714

on: Sep 2, 2019
ratings: 8

tags: तुम
language: hi

इश्क़ तो मेरा
महफूज़ है तुझमें..

ज़िस्म अलग है पर
रूह है तुझमें..

यादे और शमाँ भरी हैं
बस इस दिलमें..

बस तू है तू है
और सिर्फ तू है मुझमे.
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

average: 10.0

on: Aug 15, 2019
ratings: 5

tags: My diary...
language: hi

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

ऐ वतन, करता नहीं क्यूँ दूसरी कुछ बातचीत,
देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है
ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत, मैं तेरे ऊपर निसार,
अब तेरी हिम्मत का चरचा ग़ैर की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वक़्त आने पर बता देंगे तुझे, ए आसमान,
हम अभी से क्या बताएँ क्या हमारे दिल में है
खेँच कर लाई है सब को क़त्ल होने की उमीद,
आशिकों का आज जमघट कूचा-ए-क़ातिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

है लिए हथियार दुश्मन ताक में बैठा उधर,
और हम तैयार हैं सीना लिए अपना इधर.
ख़ून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्क़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हाथ, जिन में है जूनून, कटते नही तलवार से,
सर जो उठ जाते हैं वो झुकते नहीं ललकार से.
और भड़केगा जो शोला सा हमारे दिल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हम तो घर से ही थे निकले बाँधकर सर पर कफ़न,
जाँ हथेली पर लिए लो बढ चले हैं ये कदम.
ज़िंदगी तो अपनी मॆहमाँ मौत की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

यूँ खड़ा मक़्तल में क़ातिल कह रहा है बार-बार,
क्या तमन्ना-ए-शहादत भी किसी के दिल में है?
दिल में तूफ़ानों की टोली और नसों में इन्कलाब,
होश दुश्मन के उड़ा देंगे हमें रोको न आज.
दूर रह पाए जो हमसे दम कहाँ मंज़िल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वो जिस्म भी क्या जिस्म है जिसमे न हो ख़ून-ए-जुनून
क्या लड़े तूफ़ान से जो कश्ती-ए-साहिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.14373

average: 9.0

on: Aug 11, 2019
ratings: 4

language: hi

..............कुदरत का कहर ..........जे बी
१.
कुदरत का देखो कैसा है अनोखा खेल
अकसर मौसम हुआ है हर तरफ बेमेल
कहीं कहीं मूसलाधार बारिश की धार
और कहीं कहीं है गर्मी और सूखे की मार ॥
...................................................................राज ॥३.44
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
अगर बैठे रहे तो कुदरत के भरोसे
कुछ नहीं मिलता इंसान को आज कल
कुछ तो करके कुदरत को देना पड़ेगा मात
बादल को करो मजबूर भरसने को ........................शरू ३.50 p m
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
२.
कुदरत के भरोसे ना बैठे तो क्या करें नहीं और कोई चारा
कुदरत के ही रहमों करम पर जीता है इंसान सभी बेचारा
कुदरत से टकराने की हिम्मत जब भी कोई भी इंसान
रहा नहीं फिर इस धरती पर उसका कोई नामो निशान ॥
..........................................................................राज॥३.५६ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
यह तो कोई बात नहीं हुई करना पड़ेगा कुछ
इतना साइंटिस्ट है अपने यहां बुला लो
नदी को बांध लो पानी को बहवो तुम्हारी और
बरसात की पानी नहीं तो नाले की पानी ही सही ..........शरू ४ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
३.
चाहे वेज्ञानिक बुला लो सेंकड़ों हजार
कुदरत से पा ना सका आज तक कोई पार
कुदरत से पार पाने का बस एक ही तरीका यार
कुदरत की इज्जत करो दिल से बारम्बार ॥
.........................................................................राज ॥४.०७ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
जो नुक्सान करना था कर गया इंसान
अब क्या करे कुछ तो कुछ करना ही है
बोलो कुदरत को हमें माफ़ करे और बरसे
या हम सब मिल के कुछ न कुछ करे ..........................शरू .४.१० p m
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx ..10.8.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.24441

average: 9.28571

on: Aug 10, 2019
ratings: 8

tags: friends
language: hi

प्यार की हद को समझना,
मेरे बस की बात नहीं,
दिल की बातों को छुपाना,
मेरे बस की बात नहीं,
कुछ तो बात है तुझमें
जो यह दिल तुमपे मरता है,
वरना यूँ ही जान गँवाना,
मेरे बस की बात नहीं।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

average: 10.0

on: Aug 10, 2019
ratings: 3

tags: friends
language: hi

पहली मोहब्बत मेरी हम जान न सके,
प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसा लिया इस कदर कि,
जब चाहा उन्हें दिल से निकाल न सके।
तेरी झील सी आँखों में डूब जाने का दिल चाहता है,
वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का दिल चाहता है,
कोई सम्भाले हमे, बहक रहे हैं कदम,
तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है।
ये न समझ कि मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरे सांसो में आज भी है,
मजबूरियों ने निभाने न दी मोहब्बत,
सच्चाई मेरी वफाओं में आज भी है।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.49315

average: 9.7

on: Aug 9, 2019
ratings: 11

tags: My diary...
language: hi

जिंदगी तू मुझे पहचान न पाई लेकिन
लोग कहते हैं कि मैं तेरा नुमाइंदा हूं।

बस गई है मेरे अहसास में ये कैसी महक
कोई ख़ुशबू मैं लगाऊं, तेरी ख़ुशबू आए।

तुम्हें ज़रूर कोई चाहतों से देखेगा
मगर वो आंखें हमारी कहां से लाएगा।

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए।

जिस दिन से चला हूं मिरी मंज़िल पे नज़र है
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा।

हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है,
जिस तरफ़ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा।

मकां से क्या मुझे लेना मकां तुमको मुबारक हो
मगर ये घास वाला रेशमी कालीन मेरा है।

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

हर धड़कते पत्थर को, लोग दिल समझते हैं
उम्र बीत जाती है, दिल को दिल बनाने में।

परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता
किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता।

कोई हाथ भी न मिलाएगा,जो गले मिलोगे तपाक से
ये नये मिज़ाज का शहर है,ज़रा फ़ासले से मिला करो।

सियासत की अपनी अलग इक ज़बां है
लिखा हो जो इक़रार, इनकार पढ़ना।

किसी की राह में दहलीज़ पर दिया न रखो
किवाड़ सूखी हुई लकड़ियों के होते हैं

मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो
मेरी तरह तुम भी झूठे हो
इक टहनी पर चांद टिका था
मैं ये समझा तुम बैठे हो

वो शाख है न फूल, अगर तितलियां न हों
वो घर भी कोई घर है जहां बच्चियां न हों

सर झुकाओगे तो पत्थर देवता हो जायेगा,
इतना मत चाहो उसे वो बे-वफ़ा हो जायेगा।

हम भी दरिया हैं हमें अपना हुनर मालूम है,
जिस तरफ भी चल पड़ेंगे रास्ता हो जायेगा।

दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे
जब कभी हम दोस्त हो जायें तो शर्मिंदा न हों।

एक दिन तुझ से मिलने जरूर आऊंगा
जिंदगी मुझ को तेरा पता चाहिए।

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में,
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

पलकें भी चमक जाती हैं सोते में हमारी,
आंखों को अभी ख्वाब छुपाने नहीं आते।

तमाम रिश्तों को मैं घर पे छोड़ आया था,
फिर उस के बाद मुझे कोई अजनबी नहीं मिला।

जिस पर हमारी आंख ने मोती बिछाये रात भर
भेजा वही क़ाग़ज उसे हमने लिखा कुछ भी नहीं।

कुछ तो मजबूरियां रही होंगी,
यूं कोई बेवफ़ा नहीं होता।

जैसे सर्दियों में गर्म कपड़े दे फ़क़ीरों को,
लबों पे मुस्कुराहट थी मगर कैसी हिकारत सी।

अजीब शख्स है नारा होके हंसता है,
मैं चाहता हूं ख़फ़ा हो, तो ख़फ़ा ही लगे।

देने वाले ने दिया सब कुछ अजब अंदाज से,
सामने दुनिया पड़ी है और उठा सकते नहीं।

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हाय मौसम की तरह दोस्त बदल जाते हैं।

हम अभी तक हैं गिरफ़्तार-ए-मुहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि सम्भल जाते हैं।

मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो,
मेरी तरह तुम भी झूठे हो।

कभी हम भी इस के क़रीब थे, दिलो जान से बढ़ कर अज़ीज थे,
मगर आज ऐसे मिला है वो, कभी पहले जैसे मिला ना हो।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55823

average: 9.875

on: Aug 4, 2019
ratings: 9

language: hi

Agar bike Teri dosti
tou sabse pahle kharidaar ham honge !!

Tujhe khabar bhi na hogi teri keemat
Par tumhe pakar sabse ameer ham honge !!

Dost saath ho tou rone me bhi shaan hai.
Agar dost saath na ho tou mehfil bhi sunsaan hai.!!

APNI DOSTI KA BAS ITNA SA USOOL HAI..
JAB TU KABOOL HAI TOU TERA SABKUCH KABOOL HAI
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.60974

average: 9.9

on: Aug 4, 2019
ratings: 11

tags: Friends
language: hi

किस्से कहानियों में तो बहुत हैं पर
असल जिंदगी की बात सुनाता हूँ
चाँद दोस्त हैं मेरी जिंदगी में ,
जिन्हें मैं हीरा बुलाता हूँ
इंतजार था किसी खास मोके का ,
जब पल में कुछ कहूं उनसे ,
जरा गौर से सुनो तुम भी ,
बनके अजनबी मिले हो तुम,
जिंदगी के सफर में ,
साथ बिताये लम्हों को मिटायेंगे नहीं ,
ए दोस्त तू याद कर या न कर ,
पर वादा है तुमसे ,
आखरी साँस तक ,
हम तुम्हें भुलायेंगे नहीं
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55145

average: 9.8

on: Jul 26, 2019
ratings: 11

language: hi

.............क़ुरबानी :-----Qurbaani

तुम्हारे होते कोई छू भी नहीं सकता देश की सरहद .
दिन रात जो करते हो तुम सीमा की रक्षा चक्कना बेहद .
आँख उठाके देखे दुश्मनो की औकात क्या ?.
घुस आये सीमा के अंदर घुसपेठियो की बिसात क्या ?...

चाहे कियु न हो पहाड़ो का शून्य डिग्री तापमान .
चाहे कियु न हो आग के माफिक जलता रेगिस्तान .
रुकना नहीं सीखा तुमने ओ देश के वीर जवान .
जान देकर भी बचाया है तुमने भारत देश का मान ...

झुकने नहीं दिया तुमने कभी सर भारत का हर हाल .
दांत खट्टे किये दुश्मनो का भारत माँ के लाल .
कभी कभी लगता है की मैं हूँ बड़ा बदनसीब .
देश के लिए सरहद पर मर मिटने का कियु नहीं मेरा नसीब ?

आज विजय दिवस पर अनायास ही आंख में भर गया पानी ,
कारगिल के शहीदो की याद आगयी क़ुरबानी .
जिन शहीदो की वजह से आज हिन्दुस्तान है चमन .
ऐसे शहीदो को है मेरा दिल से कोटि कोटि नमन .
..................................................BY......... राजेश सिंह 26.7.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.56709

average: 10.0

on: Jul 26, 2019
ratings: 7

tags: Sharuu
language: hi

,,,,,,,,,,विजय दिवस,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

धोके से करता है वार बार बार ,
दुश्मन है वह देश की हमारी ,
किया है i वादा cease fire की कायर ,
करता है उल्लंघन सीमा की हर बार ,,,,,,,,,

अगर हमारी जवान भी आये तो अपने पे ,
कम नहीं किसी से ,इशारा मिलने की देरी ,
माँ की आन पहले , बाद में अपनी जान ,
डरती नहीं सेना हमारी दुश्मन से ,सावधान !

कारनामा कर दिखाया बहुत बार ,
हमारी जांबाज सिपाहियों ने यह साबित ,
हमारी धरती को हम मानते हैं माँ ,
माँ के क़दमों पर है हमारी जन्नत ,,,,,,,,,,,,,,

सालों पहले आज ही के दिवस पर ,
हमारी कई सिपाहियों ने हो गए क़ुर्बान ,
दुश्मन को दिखाया
एक एक सैनिक सौ के बराबर ,
मगर खोने न दिए तिरंगा की शान ।

आज विजय दिवस पर कर लो स्वीकार
वीरों ,भारतवासियों की शाट शाट नमन ,
हमेशा रहेगी भारत माँ की आशीर्वचन ,
बुला रही है फिर से यहीं लेना जनम ,,,,,,,by शरू,..26.7.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 23, 2019
ratings: 1

tags: दुआ
language: hi

यह दुआ है हमारी,
यह कारवाँ चलते जाये,
न टूटे किसी का दिल,
यह दोस्ती का सफर चलता जाये,
न कोई जुदा हो,
न खत्म हो सलोनी की आरज़ू,
यूँ मुलाकातों का सिलसिला चलता जाये।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Jul 23, 2019
ratings: 1

tags: ...
language: hi

आँखें पलकें गाल भिगोना ठीक नहीं
छोटी-मोटी बात पे रोना ठीक नहीं|

गुमसुम तन्हा क्यों बैठे हो सब पूछें
इतना भी संज़ीदा होना ठीक नहीं

कुछ और सोच ज़रिया उस को पाने का
जंतर-मंतर जादू-टोना ठीक नहीं

अब तो उस को भूल ही जाना बेहतर है
सारी उम्र का रोना-धोना ठीक नहीं
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 21, 2019
ratings: 3

language: hi

शब्द शब्द मे तुम्हे याद करू,
अक्षर अक्षर में तुम्हे सोचू।

शब्द शब्द में सारे जज़्बात लिखू,
अक्षर अक्षर में सारी काविता पढ़ लू।

हर पल तुम्हे याद करूं,
हमेशा तुम्हें अपने पास महसूस करूं।

शब्द शब्द में तुम्हे सजदा करूँ
अक्षर अक्षर में तुम आबाद रहो,
यह हमेशा दुआ करूँ।

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.25996

average: 9.3

on: Jul 19, 2019
ratings: 11

language: hi

,,,,,,,,,,,,,,मायने रखती तेरी दोस्ती ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
१।
बहुत कोशिस किया हम तैरने की
और दूसरी ओर पहुँच ने की
थक गए हाथ पेर तो हम क्या करे
माफ़ कर दो हमें, छोड़ गए बीच में ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,......शरू २,९ पि एम्
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx।
लहरों की ऊंचाई देखकर मान ना लेना हार ।
बीच में भंवर में जाके तूम थक ना जाना यार ॥
मंजिल उन्हे ही मिलती है जो रखते हैं हौसला ।
खुद लिखना किस्मत लहरों पे ना छोड़ना फैसला ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज ॥ 😊
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
2
एक ज़माने में हौसला ही हौसला था
क्यों की हौसले की दूसरा नाम मेरा यार
जो पग पग में हमारे साथ हुआ करता था
अब तो वह नहीं रहा , न वह जोश रहा ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,.शरू
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
माना की बदलाव प्रकृति का नियम है है ।
पर सच्चे यार कभी बदला नहीं करते ॥
वक्त के साए में कुछ अपने बिछड़ भी जाएं ।
तो वो हमेशा ही दिलों में हैं यार के रहते ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज २,२२ 😂 ❤
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
३,
अगर वह होता किसी लहर की क्या हिम्मत ?
अगर वह होता किसी भंवर की क्या ताकत ?
कोई बिजली छू नहीं सकती अबला समझकर
कोई दुःख के बादल घेर न लेते हमें यूं कसकर ,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू २,२८
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
कहीं गया नहीं है वो जो तुम्हारा खास है ,
झांक के देखो जरा वो दिल के पास है ॥
बिजली लहरें तूफान तो बस लेते हैं इम्तिहान ।
बस हौसला रखना तूम जीत लोगी ये जहान ॥
...........................,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज॥ 🤗🤗१९।७।१९
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.42625

average: 9.625

on: Jul 17, 2019
ratings: 9

language: hi

.............. पार न करना लक्ष्मण रेखा........

1.
कभी कभी हो जाता है इस दिल पागल ,
घेर लेते हैं हमारी मन में शक के बादल ,
न चाहते हुए भी कर लेते हैं हम नादानी ,
लेते हैं आप के जान कर के मनमानी ............................शरू
.
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
कोई गिला नहीं अगर तू मेरा क़तल भी करे बार बार ,
पर तुझे खुदा की कसम मुझ पर थोड़ा कर ऐतबार .
तुझे है छूट , चाहे जैसा कर तू मेरे साथ मनमानी .
पर कभी लक्ष्मण रेखा न लांघ जाना दिलबर जानी ...... ...राज
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 15, 2019
ratings: 1

language: hi

लकीरो पर नहीं रखा करो,
विश्ववास साहिब,
किस्मत तो उनकी भी होती है,
जिनके हाथ नहीं होते जनाब।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

average: 0

on: Jul 14, 2019
ratings: 0

tags: Bihar
language: hi

बिहार में पिछले सात दिनों से हो रही बारिश से नदियों के जलस्तर में वृद्धि आयी है साथ ही नेपाल से छोड़े जा रहे पानी से बिहार में बाढ़(Flood) का खतरा मंडराने लगा है। बिहार में अगले 24 घंटे तक भारी बारिश की चेतवानी मौसम विभाग ने जारी की है।

https://navbiharpatrika.com/flood-situation-in-bihar-due-to-heavey-rain/
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 14, 2019
ratings: 1

language: hi

बचपन का दिन कितना सुहाना था,
वक़्त कितना अच्छा गुज़ारा था,
माँ की गोद में सोया करते थे ,
अब माँ की यादो में जीया करते है।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.27898

average: 9.3125

on: Jul 13, 2019
ratings: 17

language: hi

,,,,,,,,,,,,,,,जवानी ,और दीवानी ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,जे , बी ,,,

अगर इंसान होगया तो जवान
समझो आगया ज़िन्दगी में उफान
पीछे न छोड़ता है पागल तूफ़ान
जवानी के रहते होता है मन हैरान ,,,,,,,,,,,।,,,,,,,,,,,,.....शरू।२,४४
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXXXX।
जवानी तो यारा दीवानी होती है ।
हर जवानी की एक अलग कहनी होती है ॥
वो जवानी किस काम की जिसमे उफान ना हो ?
बेकार है वो जि़न्दगी जिसमे तूफान ना हो ॥ ,,,,,,,,,,,...,..राज ५,५१
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXX

जिंदगी की दस बीस साल होती है बचपन
और दस बीस साल प्यार की दीवानापन
और दस बीस साल संसार का उठावो बोज
बाद में सताये बुढ़ापा क्या यही है ज़िन्दगी ?,,,,,,,...........शरू ,,,,,६,०२ PM
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXX

हाँ यही है जि़न्दगी की असली कहानी ।
थोड़े बचपन की दिन और फिर जवानी ॥
और जब पचपन और जवानी की याद सताए ।
यारों यहीं है बुढ़ापे की सच्ची निशानी ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज PM
६,०९
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXXX

बुजुर्ग कहते हैं बचपन में न करे कोई उछल खूद,
जवानी सब को आती हैं एक दिन , जाती है एक दिन ,
उसका क्यों न करे हम सब मिलकर सदुपयोग,?
तभी तो बढ़ापे में बैठकर हम कर सकेंगे आराम ,,,,,,,,,,,,शरू ६,२० PM
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXXXXXXXXXXXX

बचपन में उछल कूद और जवानी में इश्क करो बकायदा ।
बुढ़ापे में राज करने को मिले तो क्या है फायदा ॥
जवानी में करें सत्कर्म ना छोड़े धर्म का रास्ता ।
बस सुकून से राम का नाम लेते जाए बुढ़ापा ॥ ,,,,,,,,,,,........राज ६।२८ PM
,XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.63124

average: 9.90909

on: Jul 11, 2019
ratings: 12

language: hi

"गिरना भी अच्छा है,
औकात का पता चलता है…
बढ़ते हैं जब हाथ उठाने को…
अपनों का पता चलता है!
जिन्हे गुस्सा आता है,
वो लोग सच्चे होते हैं,
मैंने झूठों को अक्सर
मुस्कुराते हुए देखा है…
सीख रहा हूँ मैं भी,
मनुष्यों को पढ़ने का हुनर,
सुना है चेहरे पे…
किताबो से ज्यादा लिखा होता है…!”
 
Rate & comment on this.
 
 
<<1 2 3 4  [5]  6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20  >>