Writings

Most Recent : All
Submit your own.  My Writings
Browse
Most Viewed
Top Rated
Most Recent

Category
All
Joke
Poem
Recipe
Other

Write your own
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 3, 2019
ratings: 1

language: hi

तड़प के पुकारेंगे क्या होगा,,
यह बाज़ी इश्क में हारेंगे तो क्या होगा।

तेरे हाथो को चूम लेंगे तो क्या होगा,
तुम मेरे साथ नही रहोगे तो क्या होगा ।

मेरी हालात पर हँसे जरूर होंगे ,
अपने अश्खो को छुपा लुंगी तो क्या होगा।

दुनियां वाले तो चोट देकर माज़ा लेते है,
दिल तोड़ कर ठोकर देते है तो क्या होगा।

तेरे ज़ख़्मो को खाया बहुत है,
थोड़ा और सहन कर लेंगे तो क्या होगा।

सलोनी को कोई नही है शिकवा,
करती हूं इस मेहफिल को अलविदा।

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Jul 3, 2019
ratings: 2

tags: friends
language: hi

मुझे अपनी मुहब्बत के फसाने याद आते हैं।
लबों पर गुनगुनाते थे तराने याद आते। हैं ।

किनारे बैठकर तालाब के जब खाब देखे थे ,
हुई बरसात के मौसम सुहाने याद आते हैं।

कभी तन्हाई में बैठा अकेला सोचता हूँ मैं ,
किये अब तक इकटठे जो खजाने याद आते हैं।

हटा पाया नहीं जिनको कभी अपने ख्यालों से ,
मुझे गुजरे हुए मंजर पुराने याद आते हैं।

बहाकर ले गए आंसू पले थे खाब आँखों में ,
बचीं वीरानियाँ केवल निशाने याद आते हैं।

न जाने किस तरह की थी इबादत उन दिनों मेरी ,
किये सजदे जहां मैंने ठिकाने याद आते हैं।

कभी मंदिर कभी अपनी सहेली के बहाने से ,
हुईं कितनी मुलाकातें बहाने याद आते हैं।

पता ही ना चला मुझको हुआ है इश्क भी उनको ,
मिले इस बात पर कितने उल्हाने याद आते हैं।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

by: Saloni
average: 0

on: Jul 1, 2019
ratings: 0

language: hi

है रिश्ता हमारा,
प्यारा सा।
है रिश्ता हमारा गहरा सा ।
है रिश्ता हमारा,
नाजुक सा ।
है रिश्ता हमारा,
प्यारा सा ।
है रिश्ता मेरा सा,
है रिश्ता हमारा,
पुराना सा ।
बना है रिश्ता हमारा,
बड़े प्यार से।
ऐ दोस्त,
लाखो मैं, तुम एक हो।
ऐ दोस्त,
तुम, बहुत नेक
हो।
नसीब है हमारा बहुत अच्छा,
तक़दीर मैं आये हो हमारे।
है रिश्ता हमारा तुम्हारा पुराना।
है रिश्ता हमारा,
है जन्म जन्म का,
रिश्ता हमारा,
रहते हो दिल मे हमारे।
ऐ दोस्त,
दुआ है हमारी,
तुम जियो हज़ारो साल।
ऐ खुदा,
कबूल कर दे,
दुआ हमारी।

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 29, 2019
ratings: 2

language: hi

जो सुख में साथ दें,वे रिश्ते होते हैं!! जो दुख में साथ दे, वे फरिश्ते होते हैं!!
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

by: Saloni
average: 0

on: Jun 29, 2019
ratings: 0

tags: रंग
language: hi

वो क्या ज़माना था,

कोई मेरा दीवाना था।

हम तुम एक थे,

बेहपना मोहब्बत करते थे।

न कोई दर्द था,

हम दोनों खुल कर हॅसते थे।

अब न कोई अहसास है,

न कोई गम है,

न कोई मन।

हम तुम एक नही रहे ,

न जाने कैसे है ज़िन्दगी का रंग ,

अब हम नही रहे तुम्हारे संग।

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 26, 2019
ratings: 5

tags: दिल
language: hi

हाँ एक पल आया ,
मायूसी सी भरी हुई थी मेरी ज़िन्दगी।

न जीने की इच्छा दिल में,
न कुछ करने की ख्वाइश ।

न अपनों का साथ ,
न कोई पहचान।

हाँ एक पल आया ,
आज ज़िन्दगी खूबसूरत लगने लगी,

दिल में तमन्ना जग गयी,

कुछ अछा करने की इच्छा जग गयी,

कुछ अच्छा लिखने की आग ,
दिल में जग गयी।

अब अपनों का साथ ,

और ,

मेरी पहचान।

सलोनी
🌼🌼🌼
🌸🌸🌸
🌷🌷🌷
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.53147

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 24, 2019
ratings: 6

tags: मज़ा
language: hi

ज़िन्दगो जीने के लिए अपना ही मज़ा है!

बच्चपन से जवानी का अपना ही मज़ा है!

बुढ़ापे तक जीने की उम्मीद क्यों करो यारो !

जीवन जीने का अपना ही अलग नशा है!

दोस्तों संग मस्ती करने का अपना ही मज़ा है!

किसी को प्यार तो किसी को इक़रार में मज़ा है!

मोहब्बत कर के जो वादा निभाये उनमे अपना ही माज़ा है!


खुल के हँसने का अपना ही नशा है!

जो दुःख सुख में साथ निभाए
वही असली माज़ा है यारो!

सलोंनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 21, 2019
ratings: 1

tags: योग
language: hi

रहे तन से स्वस्थ ,

रहे मन से तंदरूस्त,

जीवन में सब है व्यस्त ,

कर दे सब को मस्त ,

न करो अपना जीवन नष्ट ,

थोड़ा सा उठाओ कष्ट ,

करो थोड़ी कसरत,

यह जीवन जीने का अच्छा उपयोग ,

भगाओ सब रोग,

रहो सदा निरोग।

सलोंनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.59768

average: 10.0

on: Jun 20, 2019
ratings: 8

language: hi

......योग भगाऐ सब रोग......
आजकल के सुख संपन्न जीवन मे हर रोज
मानव कर रहा है हर प्रकार के सुख भोग
पर नियति का कैसा है ये संजोग
पाल बैठा अपने शरीर पर नाना प्रकार के रोग

मानवता पर छाई है ये कैसी लाचारी ,
लग गया शरीर पर नयी नयी बीमारी ,
अगर भगाना है अपने शरीर से तमाम रोग ,
तो रोज सुबह उठकर जरूर करो सभी योग ,

प्रातःकल करें प्राणायाम और सूयॆ नमसकार ,
फिर देखो कैसे होता है योगा का चमत्कार ,
रहेगा ना तन मन मे रोग का नामो निशान ,
स्फुतीॅ रहेगा तन और रहेगा मन रहेगा जवान .

ऋश्री मूनीयो का मानवता पर ये है उपकार ,
योग यह भारत के तरफ से दूनिया को है उपहार ,
योग नही प्रचार करता है कोई मजहब या धर्म,
सिर्फ़ सिखाता है इनसान को कैसे रहे अरोग्य पूर्ण.
..................................................- कवि... राजेश सिंह ..21.6.15
ON INTERNATIONAL DAY
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 20, 2019
ratings: 3

language: hi

न तू गलत ,
न मैं गलत ,
सब है बात हालात की,
सब है बात जज़्बात की।

छोटी सी ज़िन्दगी,
चार दिन की ज़िन्दगी ,
ख़ुशी से जियो,
न तुम रूठो,
न हम रूठे ,
न तुम झूठे ,
न हम झूठे ,
फिर क्यों तुम रुलाते ,
भूल जाओ यह सब बातें ,
चलो आजो हम तुम्हे बुलाते ।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Jun 20, 2019
ratings: 2

tags: Sharuu
language: hi

.......................विश्व योग दिवस............

सुबह सुबह मेरी दोस्त राज का फ़ोन
याद है क्या .....कल इक्कीस जून ..?
सो व्हाट ..? मई ने पुछा गुस्सा से
अरे पगली यह तो 'विश्व योग दिन '...

क्या तुम कुछ नया लिखे हो ..?
हे, गया साल का ही है न पोस्ट कर दो
लास्ट ईयर का नहीं वोह होगये पांच साल
ताल दिया उसने बिलकुल नहीं है मेरे पास ...

तुम लिख दो न तू तो है योग प्रवीण
लगाने लगा मस्का उसने तू तो जानती है
योग का ए बी सी डी मुझ से बेहतर
बिलकुल नहीं है मेरे पास बनाया बहाना ....

बाल्य से ही जुडगया था योग और मेरी सबंध
कहीं भी हो योग का वर्ग मई होती हाजिर
प्राणायाम में अपनी श्वास पर कर लेती नियंत्रण
आसन करके आसानी से शरीर पर नियंत्रण ...........

सुबह की हवा अम्लजनक से भरपूर
हमारी श्वास कोशको देती है नव चैतन्य
पद्मासन , धनुरासन ,हलासन ,वज्रासन
बना देते हैं बदन को वज्रों से भी कठिन ...........

आवो ,सब मिल के करे योगासन
भगाये रोग करके प्राणायाम
लेंगे एक प्रतिज्ञा आज विश्वयोग के दिन
विश्वबंधुत्व करके दिख्लायेंगे आज के दिन ..........शरू २०.६.१९ ..८ पि एम्









 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

by: Saloni
average: 0

on: Jun 19, 2019
ratings: 0

tags: मैं
language: hi

ज़िन्दगी मेरी एक खुली किताब है ,
जैसे संभाली हुई पुरानी चीज़ होती है,
कभी पन्ने पलट कर देखो जरूर,
अपने मन की आँखों से देखो हजूर,
अल्फ़ाज़ वैसे के वैसे पाओगे जरूर
जैसे मैं कल थी ,
वैसे आज भी हूं,
और,
कल भी ऐसे ही रहूँगी,
अपकीं प्यारी दोस्त सलोनी
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

average: 10.0

on: Jun 15, 2019
ratings: 3

tags: friends
language: hi


कहने को सभी अपने
कोई पराया नहीं,
गिरे जब जमीन पे तो
किसी ने उठाया नहीं ।

लुटाई जब दौलत हमने
कोई शरमाया नहीं,
लुट गए हम जब खुद तो
कोई पास आया नहीं ।

जिन्हे चाहा बेपनाह
वो चुरा गए मेरी चाह,
भटकते रह गए हम
वो पा गए नहीं राह ।

कहानी जिंदगानी की
सुना रहे हैं हम,
नगमें रोज नए-नए
गुनगुना रहे हैं हम।

दर्द-ए-दिल की दास्तान
बता रहे हैं हम,
लुट लो तुम जी भर के
लुट जाने का नहीं हमे गम ।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

by: Saloni
average: 10.0

on: Jun 14, 2019
ratings: 5

tags: हम
language: hi

कल का पता नही,
पल का पता नही,
चल मस्ती कर लो ,
ज़िन्दगी का कुछ पता नही ,
कल हो या या न हो ,
हम रहे या नही ,
चलो मिल लो वही,
दूर कही ,
आसमान तले ,
खिलखिला के हँसे,
सब को खुशियाँ मिले।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 0

by: Saloni
average: 0

on: Jun 9, 2019
ratings: 0

tags: दिन
language: hi

फिर ऐसा भी दिन आये,
जहाँ दुख दूर हो जाये ,
सब की भूख प्यास मिट जाए ,
सब के चेहरे में मुस्कान आ जाए।

ऐसा भी दिन आये ,
हम सब एक हो जाये ,
दिल में सकून मिल जाये।
सलोनी
🌼🌼🌼
🏵️🏵️🏵️
🌸🌸🌸
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

average: 10.0

on: Jun 4, 2019
ratings: 5

language: hi

,,,,,,,,,,,,,,,नारी अब नहीं बेचारी,,,,,,,,,,,,,,,


पछास प्रतिशत महिला की आबादी
मगर कही नहीं थी उन की गिनती
हर जगह पुरुषों के अधिकार होती थी
अब सही मायने में महिलावों को भी
उन की अधिकार मिली ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ,,,५।५८ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

गांव शहर गली गली में सबको ये ऐलान कर दो जारी ।
पचास फीसदी आबादी अब पड़ने लगी है सब पर भारी ॥
पुरुषो से कंधे से कंधा मिलाके चल रही है साथ साथ ।
अब कोई भी कहीं भी नहीं रही अबला अब नारी ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज॥ ६।४६pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

२।
हाँ , अब हर जगह महिला ही दिखती
सेना में होती है पोलिस में है दिखती
बंगड़ी पहननेवाली हात सर्कार चलाती
घर संभलकर बाहर भी काम है करती ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ,,६।५२ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

पुरुषो के मन में नारी को लेकर अब भी भेद है
पर नारी का यू आगे बढ़ना एक अच्छा संकेत है ।
हर क्षेत्र में नारी होने लगी है अब तो भागीदार का
मुँह तोड़ जवाब देने लगी है पुरुषो के अत्याचार का ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज ,,७।॥ ०२ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

३,
भारत वर्ष में नारी को दियादर्जा देवी की
मगर युगों से किया व्यवहार दासी जैसी
त्रेता युग में भूमि पुत्री सीता को मिली
अग्नि परीक्षा और वनवास तो
द्वापर में कितना दुःख द्रौपदी को झेलनी पड़ी ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ,,,,७,०९ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

पिछले सभी युगों की बात हुईइस युग आप पुरानी ।
अब तो नारी अच्छों अच्छों को याद दिलाती है नानी ॥
गाली गलौच मार या अत्याचार अब नहीं सहने वाली
जरूरत पड़ने पर नारी बन सकती है दुर्गा और काली ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राजेश॥ ७,१६ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx


भले ही नारी कुछ भी बने इस देश में
क्यों बन जाती हैं मर्द के सामने बिल्ली
क्यों होती है हर दिन उसके ऊपर अत्याचार ?
क्या आड़े आती है उसको दिए हुई संस्कार ,,,?,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,.......शरू ,,७,२१ pm

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

कुछ भी कहो अब नारी के पैरों तले जमी आई है
आंकड़े कहते हैं नारी पर अत्याचार में कमी आई है ॥
अब डरके चुपचाप नहीं बैठती जो कहलाती थी अबला ।
हर मुश्किल का करने को तैयार रहती है अब मुकाबला ॥
...............,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज ॥ ७,३१ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.56709

average: 10.0

on: May 30, 2019
ratings: 7

language: hi

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में
एक पुराना ख़त खोला अनजाने में

शाम के साए बालिश्तों से नापे हैं
चाँद ने कितनी देर लगा दी आने में

रात गुज़रते शायद थोड़ा वक़्त लगे
धूप उन्डेलो थोड़ी सी पैमाने में

जाने किस का ज़िक्र है इस अफ़्साने में
दर्द मज़े लेता है जो दोहराने में

दिल पर दस्तक देने कौन आ निकला है
किस की आहट सुनता हूँ वीराने में

हम इस मोड़ से उठ कर अगले मोड़ चले
उन को शायद उम्र लगेगी आने में
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55823

by: Saloni
average: 9.875

on: May 28, 2019
ratings: 9

language: hi

भरोसा और प्यार,
दो पंछी है,
इस में से एक उड़ जाये,
दूसरा आपने आप उड़ जाता है।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.58558

average: 9.88889

on: May 24, 2019
ratings: 10

language: hi


,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,नतीजे के बाद ,,,,,,,,,,,,,,
१,
यह तो बाढ़ आगया भारत देश में
मानसून के आने से पहले ,,,,,,,,
मोदी नाम की सुनामी के लेहरे
ले गयी सब को उड़ाते और डुबाते ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
देश की अवाम का मूड कुछ कहने को मचल रहा है ।
मोदी की जीत से ऐसा लगता है कि देश बदल रहा है ॥
देश में मोदी की चली लहर है चल रही नई एक हवा है ।
जाने क्यो लगाता है ऐसा जैसे मोदी हर जख्मों की दवा है॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,........राज ॥ ५।२३
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
२।
ऐसा लगता था यह बार जीतना है मुश्किल
मगर आवाम ने दिखाई अपनी अकल
ऐसी मात दिया विपक्षों को अब होगया
पांच साल तक संभालना हरगिज मुश्किल ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ५।३२
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
दरअसल देखा जाए तो ये चुनाव और चुनाव से भिन्न है ।
मोदी और शाह की जोड़ी बहुत ही कमाल और जहीन है
अब तो ऐसा लगता है देश का अब बदलने वाला दिन है
मुश्किल कुछ भी नहीं क्योकि मोदी है तो मुमकिन है ।
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राजेश ॥
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

ह हा ,,,,,तुम तो ऐसा कह रहे हो वोह नहीं मोदी
वह है एक जादूगर जो चलाएगा जादू की छड़ी
मान गए अब की बार किया लोगों ने न्याय
रंग लायी चुनाव में मोदी को शाह के सारथ्य ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ५।५०
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
दरअसल ये मोदी की नहीं जनता जनार्दन की है जीत
जनता नें इस बार लगाई सच्चे लोकतंत्र से है मीत
जाती और धर्म से ऊपर उठकर किया है लोगों नें वोट ।
भ्रष्ट और झूटे नेताओं पर किया है इस बार गहरा चोट ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज ॥५। ५८
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

तेरा कहना लोगो ने मोदी के रूप में खुद को जिताया
हमें तो महा भारत के कृष्णा और अर्जुन याद आयी
शाह और मोदी की जोड़ी बनगयी कृष्णार्जुन की जोड़ी
युद्ध तो जीता है ,मगर अब और बहुत काम है बाकी ,,,,,,,,,,,,,,,शरू ६,०५
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
हे मोदी देश की अवाम नें दिया है जनमत विशेष
पिछले बार काम किया था अभी और काम है शेष।
अमीर गरीब चाहें कोई भी धर्म का हो ना करना कभी फर्क ।
सबका साथ सबका विकास ना रखना किसी से कोई द्वेष ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,............राज ॥ ६,१३
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
५,
यह तो करना ही पड़ेगा वह है बड़ा नेता
बड़ा तजुर्बेदार भी , न करेगा कोई भेद भाव
लोगों को भी एक जुट होकर देना होगा साथ
करनी पड़ेगी बंद हमेशा की दंगा फसाद ,आतंकवाद ,,,,,,,,,,,,,,,.शरू ६,१८
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
दंगाई फसादी आतंकवादियों का तो ये कर देगा सफाया ।
इस सच्चे पुरुष नें जो भी वादा किया देश से है निभाया ॥
गरीबी होगी दूर और देश में अमन चैन की देश में होगी बहार
विश्व गुरु बनेगा भारत, चारो और फैलेगा देश के नाम की बयार ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राजेश ॥
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

वह,,,तुम्हारा स्वप्ना भी तो है कितना सुनहरा
वैसे ही हो ,भारत वर्ष बने सोने की चिड़िया
विश्व में सबसे ताकतवर और सब का दुलारा
सब के साथ चले हम कंधे से कंधे मिलाकर ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,शरू ६,३५
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
ये तो आपने सही फरमाया हुजूर ये एक अकेले से ना होगा
क्या अवाम क्या नेता सभी को मिलकर करना होगा प्रयास ॥
चाहे कोई भी हो धर्म या जाती हो देश के लिए प्यार का आभास
जिम्मेदारी से सभी कोशिश करें तभी होगा इस देश का विकास।
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज ॥ ६।४४ PM
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55823

average: 9.875

on: May 20, 2019
ratings: 9

language: hi

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,सैनिक ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
१।
सरहद में दिन रात पहरा देते हैं
हमारी सैनिक जागा रह कर
जिसकी वजह से हम सोते हैं
चैन की नींद बे फ़िक्र देश के अंदर ,,,,,,,,...................शरू ५,०१

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

तीज त्यौहार खुशी से रहते हैं जो अंजान
खुशी से देश की खातिर करते हैं जान कुर्बान ।
ना सर्दी गर्मी बरसात ना दुश्मन की गोली की फिक्र
ऐसे देश के वीर सैनिको को दिल से हमारा सलाम । 🙏 🙏 🙏
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,।.... ..राज..६।४४

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

२।
यह सैनिक तो हमारी देश की शान
उनका लोग जो पीछे छोड़ आये हैं
उनको संभालना न केवल सरकार के ही काम
मुश्किल के गड़ी में संभालना होगा हम अवाम,,,,,,,.......शरू ,,,६।४९

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

इनके लिए कोई होली दिवाली ना कोई ईद
पर देश के लिए जो सैनिक ho।जाता है शहीद ।
पूरा देश उसके परिवार के साथ है मुश्किल में
देश के हर सैनिक को रखता है यही उम्मीद ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,...................राज ६।५७
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
३।
अगर सैनिक होजाता है एक बार
अपनी परिवार के बारे में बेफिक्र
वोह तो अपना तन मन से होगा कुर्बान
अपनी देश केलिए लड़ते लड़ते ख़ुशी से ,,,,,,,,,,,..............शरू ७।०४

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

जब सैनिक करता है देश की सरहद की हिफाजत
तो कोई डर या परिवार के फिक्र की नहीं है इजाजत ।
दुश्मन के सामने से नहीं हटेगा हरएक जवान
परिवार से ज्यादा है जिनको प्यारी देश की इज्जत ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,.......राज॥ ७।१०

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

४।
वह तो करेगा ही अपनी जिम्मेवारी पूरा
हमारी भी कुछ फ़र्ज़ बनती है न उनकी ओर
हमारी फॅमिली को करनेवाले है देखभाल
यह सोचकर वे लड़ेंगे डबल जोश से है ना बोल ,,,,,,..........,शरू ,,७।१६

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

हाँ बात तो आपकी बिल्कुल सही है यार ।
पर अक्सर उपेक्षित ही रहता है शहीदों का परिवार ।
ना देश की अवाम करती है शहीद के परिवार की फिक्र
शहीद का दर्जा देकर उनके परिवार को भूल जाती है सरकार ॥
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,...............राज ॥ ७।२८
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

यही तो कहना था हमें आप से भी सर्कार से भी
सैनिक होजाये बे फ़िक्र अपनी परिवार के तरफ से
और उनको अच्छा खाना और बुलेट प्रूफ जैकेट मिले
हाथ में लेटेस्ट बंदूके रहे युद्ध का विमान और टैंकर रहे ,,,,,,,शरू ७।३५

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

देश की सरहद पर निगाह डालना जाए भूल
देश के दुश्मन को पल भर में चटा दें धूल
ना खाना ना बंदूक ना जेकेट बुलेट प्रूफ
बस हौंसले से जीत जाते है हमारे जवान युद्ध ॥
...........................,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,..राज ॥ ७।50

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

अरे यह क्या कह दिया आपने यार ,,?
हौसला भी चाहिए हमारी सैनिकों में
केवल हौसला से काम होगा तमाम
दुश्मन की बन्दुक सी निकली हुई गोली
कर देगी हमारी निशस्त्र सैनिकों की छाती चलनी ,,,,,,,,,,.......शरू ७।५६

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

हमारे सैनिकों के हौंसले की रफ्तार अभी थमी नहीं है
और हमारे देश में आधुनिक हथियारों की कमी नहीं है ।
तभी तो कोई भी नहीं करता देश की तरफ आँख उठाने की हिम्मत ।
जान देकर चुकानी पड़ती है दुश्मन को घुसपैठ की कीमत ॥
...............,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,राज..॥ ८।०६
 
Rate & comment on this.
 
 
<<1 2 3 4 5  [6]  7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20  >>