Writings

Most Recent : All
Submit your own.  My Writings
Browse
Most Viewed
Top Rated
Most Recent

Category
All
Joke
Poem
Recipe
Other

Write your own
score: 9.44919

average: 9.8

on: Oct 1, 2019
ratings: 6

tags: POEM
language: hi

Mai sunya pe sawar hoon,,
Be-adab sa mai khumar hoon,,
Ab muskilo se kya daru,,
Mai khud kahar hazar hoon,,
Mai sunya pe sawar hoon,,
Uch nich se pare ,,
Majal aakh me bhare ,,
Mai lad raha hoon rat se,,
Mashal hath me liye,,
Na surya mere sath hai,,
To kya nayi ye bat hai,,
Wo sham hota dhal gaya,,
Wo rat se tha dar gaya,,
Mai juganu ka yaar hoon,,
Mai sunya pe sawar hoon,,

Bhawanaye mar chuki ,,
Sambedanaye khatam hai,,
Ab dard se kya daru,,
Zindagi hi jakham hai,,
Mai bich rah ki maat hoon,,
Bejan-syah rat hoon,,
Mai kali ka sringar hoon,,
Mai sunya pe sawar hoon,,

Hoon Ram ka sa tez mai,,
Lankapati sa zyan hoon,,
Kis ki karu aaradhana,,
Sab se jo mai mahan hoon,,
Brahmand ka mai saar hoon,,
Mai jal prawah nihar hoon,,
Mai sunya pe sawar hoon,,

 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.66783

by: Saloni
average: 9.92308

on: Sep 27, 2019
ratings: 14

language: hi

बड़ा खूबसूरत सा रिश्ता है हमारा तुम्हारा ,
न तुमने जाना ,
न मैंने माना।
बड़ा सुंदर रिश्ता है हमारा तुम्हारा ।
लगता है अपना सा,
बड़ा नाज़ुक सा ।
है बड़ा गहरा रिश्ता ,
है रिश्ता प्यारा सा।
बड़ा अनमोल सा रिश्ता हमारा तुम्हारा,
न तुमने कभी बांधा,
न हमने कभी छोड़ा।
सलोनी
🌺🌺🌺
💮💮💮
🌼🌼🌼
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

by: Saloni
average: 10.0

on: Sep 24, 2019
ratings: 3

language: hi

हम उनकी आदत न बन जाएँ कहीं
इसी डर से वो दूरियाँ बनाने लगे हैं
कितने नादाँ है वो ये नहीं समझते
दूरियों में इश्क़ और बढ़ जाता है.!
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Sep 21, 2019
ratings: 1

tags: मै
language: hi

मै वो नहीं तुमने चाहा है,
मै वो नहीं तुमने गिराया है,
मै वो नहीं तुमने उठाया है,
मै वो नहीं तुमने समझा है,
मै वो नहीं तुमने रुलाया है,
मै वो नहीं तुमने अपने इशारों में नचाया है ,
मै वो नहीं तुमने छोड़ा है ,
मै वो नहीं तुमने महकाया है ,
मै एक आम इंसान हूं ,
अपने दिल की सुनी है ,
अपनों के साथ हूं ,
अपनों के लिए जीया है।
सलोनी
🌹🌹🌹
🌼🌼🌼
🌺🌺🌺
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.43918

average: 10.0

on: Sep 14, 2019
ratings: 4

language: hi

J B ..RAJ ..N...SHARU.......PYAR KI AFTAB
1.
Koi to aa jayegi khali jagah bharne ke liye
Khudrat ka khel hai niraala aur nigudh
Mushkil hai samajhna insaan ke liye
Woh kya sochta hai aur Kyon karta hai
Anjaan hai insaan yeh sab baaton se...............by SHARU
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Han ye haqikat hai kudrat ka khel hai nirala.
Tere mere bich me kabhi koi nahi sakega aala.
Mera pyar paani nahi jo beh jaayega.
Pahaad ki tarha sada kayam rahega. ................By. Raaj
> > > > > > > > > > > > > > > > >
2.
Aftab chahiye kahnewale insaan tum,
Lagta hai Khud bangaye aftab ab ,
Chubti hai uski roshni aankhon me ,
Aankh kholna mushkil hogayi hai ab .................BY SHARU
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Aaftaab ki roshni chubti aankho par.
To mai tere liye mahtaab ban jaun.
Jalte hain tere panw dhup men to janam.
Phool bankar mai teri kadamo me bhikhar jaun. ...BY RAAJ
> > > > > > > > > > > > > > > > >
3.
Log kehte hain mai ne aap ko jeet liya,
Sach to yeh hai aap ne mujhe jeet liya,
Aurat hamesha jeet kar haar leti hai ,
Magar purush hai jo haarkar bhi jeet leta hai...........by sharu

>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Nahi tum ulta bol rahi ho yaar.
Aurat kabhi nahi harti hai pyaar.
Aadmi to bas aurat ka dil jit ta hai.
Aurat pyar me jeet leti hai sara sansar......................by RAAJ
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>

4.
Hamari kehna bhi yehi tha yaar,
Aurat bhi to dil haarti hai chaahe ,
Badle me jeet leti hai saare sansaar,
Aurat apni vyaktitv haar jaati hai paane ko ek pyar...by SHARU
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Ye to sansaar ka neeyam hai yaar.
Yaha pyar ke badle me milta hai pyar.
gam na karo,Pyar me jo gayaa haar.
Samjho usne jeet liya sara sansaar...........................by RAAJ
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>..
5
Taarifon ki maala banaane koi aap se seekhe
Phool bhi aap ki pyaar dekhkar sharmaaye
Aur raat din aap ki pyar ke liye tarsaaye
Khud ko aap ki raahon me bichaa jaaye.... ...............BY SHARU
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Pyar me phoolo ki mala mai jo bunta hun.
Rat din bas tere pyar ke dhun sunta hun.
Kaise bichhau meri jaan, phool apni raaho me...?
Tum khud ek phool ho jise bharta hun baaho me.............by RAAJ
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
6.
Agar yahaan pyar ke badle milta hai pyar
Jeene me hogi majaa yaar
Kabhi kabhi hoti hai dhokha bhi
Jo nigal jaati hai khushiyaan jeevan ki .....................by SHARU
>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>
Pyar to har jeevan kee jarurat hoti hai.
Par dhokha kuchh insaan ki fitrat hoti hai.
Dhokha khanewale to kuchh din me sambhal jate hai.
Par dhokha denewale sari umra kaha khush reh pate hain....BY RAAJ..............6.45 pm

 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.17898

average: 9.0

on: Sep 14, 2019
ratings: 1

language: hi

...........विज्ञान दिवस...............

आज का युग है सिर्फ और सिर्फ विज्ञान का .
विज्ञान के अनोखे चमत्कार का .
मशीन करते हैं इंसान का सारा काम .
इंसान बस बैठा करता है ऐशो आराम .

मोबाइल और कंप्यूटर पर सिमट गयी दुनिया सारी .
मशीनो के सहारे चलती जिंदगी यह हमारी .
हज़ारो किलोमीटर दूर करते हैं हम बातें .
इंटरनेट पर करते हैं अपनों से हम मुलाक़ातें .

दुनिया की खबर मिल जाती है कुछ ही मिनिटो में .
एक देश से दूसरे देश पहुंच जाते है घंटो में .
लेकिन इंसान ने जब विज्ञान को अपनाया .
इंसानो ने इसका है खूब कीमत भी चुकाया .

विज्ञान ही बन बैठा धरती का हैवान .
प्रकृति का भी यारो हुआ भरपूर नुक्सान .
इंसान हो गया पूर्णतया मचिनो का आदि .
मेहनत से जी चुराता शरीर का हुआ बर्बादी .

बेजान और नकारा हो गयी शरीर हमारी .
जाने कहा से आगयी नयी नयी बिमारी .
हर इंसान विज्ञान अपनाने को होगया मजबूर .
इस चक्कर में इंसान होगया अपनों से ही दूर .

हवा पानी और रौशनी रही कहा अब शुद्ध ?
जाने कब छिड़ जाये आपस में आणविक युद्ध .
ये सच है विज्ञान के सहारे विकास किया इंसान .
पर सारा जीवन के विनाश का वजह भी बनेगा विज्ञान .
. .....................................................By... राजेश सिंह 15.9.19

( Vigyaan diwas par vishesh )
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Sep 5, 2019
ratings: 1

language: hi

ज़िन्दगी में मुस्कुराना 💮💮💮 खुल के आना चाहिए ,
इस तरह की दोस्तों गुलशन 🌹🌹🌹बसना चाहिए ।

आप मुस्कुराओगे खुशियां 🌺🌺🌺आ जाएगी,
ज़िंदगी हसीन लगने लगी ।🌷🌷🌷

तेरा संग हो, 🌼🌼🌼
मेरा संग हो ,🌸🌸🌸
दुनियां का संग हो ।💮💮💮

दोस्ती करो 🌺🌺🌺 लेकिन निभाना चाहिए ।🌹🌹🌹

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.52702

by: Saloni
average: 9.85714

on: Sep 2, 2019
ratings: 8

tags: तुम
language: hi

इश्क़ तो मेरा
महफूज़ है तुझमें..

ज़िस्म अलग है पर
रूह है तुझमें..

यादे और शमाँ भरी हैं
बस इस दिलमें..

बस तू है तू है
और सिर्फ तू है मुझमे.
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.48946

average: 10.0

on: Aug 15, 2019
ratings: 5

tags: My diary...
language: hi

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

ऐ वतन, करता नहीं क्यूँ दूसरी कुछ बातचीत,
देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है
ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत, मैं तेरे ऊपर निसार,
अब तेरी हिम्मत का चरचा ग़ैर की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वक़्त आने पर बता देंगे तुझे, ए आसमान,
हम अभी से क्या बताएँ क्या हमारे दिल में है
खेँच कर लाई है सब को क़त्ल होने की उमीद,
आशिकों का आज जमघट कूचा-ए-क़ातिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

है लिए हथियार दुश्मन ताक में बैठा उधर,
और हम तैयार हैं सीना लिए अपना इधर.
ख़ून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्क़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हाथ, जिन में है जूनून, कटते नही तलवार से,
सर जो उठ जाते हैं वो झुकते नहीं ललकार से.
और भड़केगा जो शोला सा हमारे दिल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हम तो घर से ही थे निकले बाँधकर सर पर कफ़न,
जाँ हथेली पर लिए लो बढ चले हैं ये कदम.
ज़िंदगी तो अपनी मॆहमाँ मौत की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

यूँ खड़ा मक़्तल में क़ातिल कह रहा है बार-बार,
क्या तमन्ना-ए-शहादत भी किसी के दिल में है?
दिल में तूफ़ानों की टोली और नसों में इन्कलाब,
होश दुश्मन के उड़ा देंगे हमें रोको न आज.
दूर रह पाए जो हमसे दम कहाँ मंज़िल में है,
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वो जिस्म भी क्या जिस्म है जिसमे न हो ख़ून-ए-जुनून
क्या लड़े तूफ़ान से जो कश्ती-ए-साहिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.14373

average: 9.0

on: Aug 11, 2019
ratings: 4

language: hi

..............कुदरत का कहर ..........जे बी
१.
कुदरत का देखो कैसा है अनोखा खेल
अकसर मौसम हुआ है हर तरफ बेमेल
कहीं कहीं मूसलाधार बारिश की धार
और कहीं कहीं है गर्मी और सूखे की मार ॥
...................................................................राज ॥३.44
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
अगर बैठे रहे तो कुदरत के भरोसे
कुछ नहीं मिलता इंसान को आज कल
कुछ तो करके कुदरत को देना पड़ेगा मात
बादल को करो मजबूर भरसने को ........................शरू ३.50 p m
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
२.
कुदरत के भरोसे ना बैठे तो क्या करें नहीं और कोई चारा
कुदरत के ही रहमों करम पर जीता है इंसान सभी बेचारा
कुदरत से टकराने की हिम्मत जब भी कोई भी इंसान
रहा नहीं फिर इस धरती पर उसका कोई नामो निशान ॥
..........................................................................राज॥३.५६ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
यह तो कोई बात नहीं हुई करना पड़ेगा कुछ
इतना साइंटिस्ट है अपने यहां बुला लो
नदी को बांध लो पानी को बहवो तुम्हारी और
बरसात की पानी नहीं तो नाले की पानी ही सही ..........शरू ४ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
३.
चाहे वेज्ञानिक बुला लो सेंकड़ों हजार
कुदरत से पा ना सका आज तक कोई पार
कुदरत से पार पाने का बस एक ही तरीका यार
कुदरत की इज्जत करो दिल से बारम्बार ॥
.........................................................................राज ॥४.०७ pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
जो नुक्सान करना था कर गया इंसान
अब क्या करे कुछ तो कुछ करना ही है
बोलो कुदरत को हमें माफ़ करे और बरसे
या हम सब मिल के कुछ न कुछ करे ..........................शरू .४.१० p m
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx ..10.8.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.24441

average: 9.28571

on: Aug 10, 2019
ratings: 8

tags: friends
language: hi

प्यार की हद को समझना,
मेरे बस की बात नहीं,
दिल की बातों को छुपाना,
मेरे बस की बात नहीं,
कुछ तो बात है तुझमें
जो यह दिल तुमपे मरता है,
वरना यूँ ही जान गँवाना,
मेरे बस की बात नहीं।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

average: 10.0

on: Aug 10, 2019
ratings: 3

tags: friends
language: hi

पहली मोहब्बत मेरी हम जान न सके,
प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसा लिया इस कदर कि,
जब चाहा उन्हें दिल से निकाल न सके।
तेरी झील सी आँखों में डूब जाने का दिल चाहता है,
वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का दिल चाहता है,
कोई सम्भाले हमे, बहक रहे हैं कदम,
तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है।
ये न समझ कि मैं भूल गया हूँ तुझे,
तेरी खुशबू मेरे सांसो में आज भी है,
मजबूरियों ने निभाने न दी मोहब्बत,
सच्चाई मेरी वफाओं में आज भी है।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.49315

average: 9.7

on: Aug 10, 2019
ratings: 11

tags: My diary...
language: hi

जिंदगी तू मुझे पहचान न पाई लेकिन
लोग कहते हैं कि मैं तेरा नुमाइंदा हूं।

बस गई है मेरे अहसास में ये कैसी महक
कोई ख़ुशबू मैं लगाऊं, तेरी ख़ुशबू आए।

तुम्हें ज़रूर कोई चाहतों से देखेगा
मगर वो आंखें हमारी कहां से लाएगा।

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए।

जिस दिन से चला हूं मिरी मंज़िल पे नज़र है
आंखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा।

हम भी दरिया हैं, हमें अपना हुनर मालूम है,
जिस तरफ़ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा।

मकां से क्या मुझे लेना मकां तुमको मुबारक हो
मगर ये घास वाला रेशमी कालीन मेरा है।

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

हर धड़कते पत्थर को, लोग दिल समझते हैं
उम्र बीत जाती है, दिल को दिल बनाने में।

परखना मत, परखने में कोई अपना नहीं रहता
किसी भी आईने में देर तक चेहरा नहीं रहता।

कोई हाथ भी न मिलाएगा,जो गले मिलोगे तपाक से
ये नये मिज़ाज का शहर है,ज़रा फ़ासले से मिला करो।

सियासत की अपनी अलग इक ज़बां है
लिखा हो जो इक़रार, इनकार पढ़ना।

किसी की राह में दहलीज़ पर दिया न रखो
किवाड़ सूखी हुई लकड़ियों के होते हैं

मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो
मेरी तरह तुम भी झूठे हो
इक टहनी पर चांद टिका था
मैं ये समझा तुम बैठे हो

वो शाख है न फूल, अगर तितलियां न हों
वो घर भी कोई घर है जहां बच्चियां न हों

सर झुकाओगे तो पत्थर देवता हो जायेगा,
इतना मत चाहो उसे वो बे-वफ़ा हो जायेगा।

हम भी दरिया हैं हमें अपना हुनर मालूम है,
जिस तरफ भी चल पड़ेंगे रास्ता हो जायेगा।

दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे
जब कभी हम दोस्त हो जायें तो शर्मिंदा न हों।

एक दिन तुझ से मिलने जरूर आऊंगा
जिंदगी मुझ को तेरा पता चाहिए।

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में,
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

पलकें भी चमक जाती हैं सोते में हमारी,
आंखों को अभी ख्वाब छुपाने नहीं आते।

तमाम रिश्तों को मैं घर पे छोड़ आया था,
फिर उस के बाद मुझे कोई अजनबी नहीं मिला।

जिस पर हमारी आंख ने मोती बिछाये रात भर
भेजा वही क़ाग़ज उसे हमने लिखा कुछ भी नहीं।

कुछ तो मजबूरियां रही होंगी,
यूं कोई बेवफ़ा नहीं होता।

जैसे सर्दियों में गर्म कपड़े दे फ़क़ीरों को,
लबों पे मुस्कुराहट थी मगर कैसी हिकारत सी।

अजीब शख्स है नारा होके हंसता है,
मैं चाहता हूं ख़फ़ा हो, तो ख़फ़ा ही लगे।

देने वाले ने दिया सब कुछ अजब अंदाज से,
सामने दुनिया पड़ी है और उठा सकते नहीं।

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हाय मौसम की तरह दोस्त बदल जाते हैं।

हम अभी तक हैं गिरफ़्तार-ए-मुहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि सम्भल जाते हैं।

मुझसे बिछड़ के ख़ुश रहते हो,
मेरी तरह तुम भी झूठे हो।

कभी हम भी इस के क़रीब थे, दिलो जान से बढ़ कर अज़ीज थे,
मगर आज ऐसे मिला है वो, कभी पहले जैसे मिला ना हो।
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55823

average: 9.875

on: Aug 4, 2019
ratings: 9

language: hi

Agar bike Teri dosti
tou sabse pahle kharidaar ham honge !!

Tujhe khabar bhi na hogi teri keemat
Par tumhe pakar sabse ameer ham honge !!

Dost saath ho tou rone me bhi shaan hai.
Agar dost saath na ho tou mehfil bhi sunsaan hai.!!

APNI DOSTI KA BAS ITNA SA USOOL HAI..
JAB TU KABOOL HAI TOU TERA SABKUCH KABOOL HAI
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.60974

average: 9.9

on: Aug 4, 2019
ratings: 11

tags: Friends
language: hi

किस्से कहानियों में तो बहुत हैं पर
असल जिंदगी की बात सुनाता हूँ
चाँद दोस्त हैं मेरी जिंदगी में ,
जिन्हें मैं हीरा बुलाता हूँ
इंतजार था किसी खास मोके का ,
जब पल में कुछ कहूं उनसे ,
जरा गौर से सुनो तुम भी ,
बनके अजनबी मिले हो तुम,
जिंदगी के सफर में ,
साथ बिताये लम्हों को मिटायेंगे नहीं ,
ए दोस्त तू याद कर या न कर ,
पर वादा है तुमसे ,
आखरी साँस तक ,
हम तुम्हें भुलायेंगे नहीं
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.55145

average: 9.8

on: Jul 26, 2019
ratings: 11

language: hi

.............क़ुरबानी :-----Qurbaani

तुम्हारे होते कोई छू भी नहीं सकता देश की सरहद .
दिन रात जो करते हो तुम सीमा की रक्षा चक्कना बेहद .
आँख उठाके देखे दुश्मनो की औकात क्या ?.
घुस आये सीमा के अंदर घुसपेठियो की बिसात क्या ?...

चाहे कियु न हो पहाड़ो का शून्य डिग्री तापमान .
चाहे कियु न हो आग के माफिक जलता रेगिस्तान .
रुकना नहीं सीखा तुमने ओ देश के वीर जवान .
जान देकर भी बचाया है तुमने भारत देश का मान ...

झुकने नहीं दिया तुमने कभी सर भारत का हर हाल .
दांत खट्टे किये दुश्मनो का भारत माँ के लाल .
कभी कभी लगता है की मैं हूँ बड़ा बदनसीब .
देश के लिए सरहद पर मर मिटने का कियु नहीं मेरा नसीब ?

आज विजय दिवस पर अनायास ही आंख में भर गया पानी ,
कारगिल के शहीदो की याद आगयी क़ुरबानी .
जिन शहीदो की वजह से आज हिन्दुस्तान है चमन .
ऐसे शहीदो को है मेरा दिल से कोटि कोटि नमन .
..................................................BY......... राजेश सिंह 26.7.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.56709

average: 10.0

on: Jul 26, 2019
ratings: 7

tags: Sharuu
language: hi

,,,,,,,,,,विजय दिवस,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

धोके से करता है वार बार बार ,
दुश्मन है वह देश की हमारी ,
किया है i वादा cease fire की कायर ,
करता है उल्लंघन सीमा की हर बार ,,,,,,,,,

अगर हमारी जवान भी आये तो अपने पे ,
कम नहीं किसी से ,इशारा मिलने की देरी ,
माँ की आन पहले , बाद में अपनी जान ,
डरती नहीं सेना हमारी दुश्मन से ,सावधान !

कारनामा कर दिखाया बहुत बार ,
हमारी जांबाज सिपाहियों ने यह साबित ,
हमारी धरती को हम मानते हैं माँ ,
माँ के क़दमों पर है हमारी जन्नत ,,,,,,,,,,,,,,

सालों पहले आज ही के दिवस पर ,
हमारी कई सिपाहियों ने हो गए क़ुर्बान ,
दुश्मन को दिखाया
एक एक सैनिक सौ के बराबर ,
मगर खोने न दिए तिरंगा की शान ।

आज विजय दिवस पर कर लो स्वीकार
वीरों ,भारतवासियों की शाट शाट नमन ,
हमेशा रहेगी भारत माँ की आशीर्वचन ,
बुला रही है फिर से यहीं लेना जनम ,,,,,,,by शरू,..26.7.19
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 23, 2019
ratings: 1

tags: दुआ
language: hi

यह दुआ है हमारी,
यह कारवाँ चलते जाये,
न टूटे किसी का दिल,
यह दोस्ती का सफर चलता जाये,
न कोई जुदा हो,
न खत्म हो सलोनी की आरज़ू,
यूँ मुलाकातों का सिलसिला चलता जाये।
सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.30162

average: 10.0

on: Jul 23, 2019
ratings: 1

tags: ...
language: hi

आँखें पलकें गाल भिगोना ठीक नहीं
छोटी-मोटी बात पे रोना ठीक नहीं|

गुमसुम तन्हा क्यों बैठे हो सब पूछें
इतना भी संज़ीदा होना ठीक नहीं

कुछ और सोच ज़रिया उस को पाने का
जंतर-मंतर जादू-टोना ठीक नहीं

अब तो उस को भूल ही जाना बेहतर है
सारी उम्र का रोना-धोना ठीक नहीं
 
Rate & comment on this.
 
 
score: 9.37792

by: Saloni
average: 10.0

on: Jul 21, 2019
ratings: 3

language: hi

शब्द शब्द मे तुम्हे याद करू,
अक्षर अक्षर में तुम्हे सोचू।

शब्द शब्द में सारे जज़्बात लिखू,
अक्षर अक्षर में सारी काविता पढ़ लू।

हर पल तुम्हे याद करूं,
हमेशा तुम्हें अपने पास महसूस करूं।

शब्द शब्द में तुम्हे सजदा करूँ
अक्षर अक्षर में तुम आबाद रहो,
यह हमेशा दुआ करूँ।

सलोनी
 
Rate & comment on this.
 
 
<<1 2 3 4 5  [6]  7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20  >>