इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं

by: Karthik Real Hero of life 🌹 (on: Apr 10, 2012)
Category: Other   Language: Hindi
tags: karthik
सफ़र के बाद अफ़साने ज़रूरी हैं |
ना भूल पाए वो दीवाने ज़रूरी हैं |

जिन आँखों में हँसी का धोखा हो
उन के मोती चुराने ज़रूरी हैं |

माना के तबाह किया उसने मुझे ,
मगर रिश्ते निबाहने ज़रूरी हैं |

ज़ख़्म दिल के नासूर ना बन जाए
मरहम इन पे लगाने ज़रूरी हैं |

माना वो ज़िंदगी हैं मेरी लेकिन ,
पर दूर रहने के बहाने ज़रूरी हैं |

इश्क़ बंदगी भी हो जाए, कम हैं,
इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं |

महफ़िल में रंग ज़माने के लिए ,
दर्द के गीत गुन-गुनाने ज़रूरी है |

रात रोशन हुई जिनसे ,सारी ,
सुबह वो ”दीप” बुझाने ज़रूरी हैं|
score: 9.87103
average: 10.0
Ratings: 41
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
3062 days ago
Rating: 10
 
 
3070 days ago
Excellent!!!!!!!!!!!!!!!!!!
 
 
3070 days ago
Rating: 10
 
 
3071 days ago
good one karti... god bless
 
 
3071 days ago
Rating: 10
 
 
3071 days ago
महफ़िल में रंग ज़माने के लिए ,
दर्द के गीत गुन-गुनाने ज़रूरी है
 
 
3222 days ago
Rating: 10
 
 
3247 days ago
Rating: 10
 
 
3248 days ago
Rating: 10
 
 
3248 days ago
Rating: 10
 
 
3248 days ago
Rating: 10
 
 
3248 days ago
 
 
3248 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
इश्क़ बंदगी भी हो जाए, कम हैं,
इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं |
Excellent
 
 
3249 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
very nice
 
 
3249 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
रात रोशन हुई जिनसे ,सारी ,
सुबह वो ”दीप” बुझाने ज़रूरी हैं|
 
 
3249 days ago
Rating: 9
 
 
3249 days ago
इश्क़ बंदगी भी हो जाए, कम हैं,
इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं |
 
 
3249 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
jin ankhon main hansi ka dhokha ho
unke moti churane zaroori hain...
 
 
3249 days ago
Rating: 10
 
 
3249 days ago
very nice.
 
[View All Comments]