...मिलने की सूरत बताओ..........

by: sharu------ . (on: Mar 3, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: SHARU...शरू ,,,,,,,,,n .............Raj
.......मिलने की सूरत बताओ..........
1
शुक्रिया, बड़ी मेहबानी आप का ऐ दोस्त ,
जब जब भी हम ने बुलाया आपको
आप दौड़े चला आया हमारी पास
हम तो इस इज्जत की काबिल न थे यार .....................by......... शरू 5.12pm
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
आप बुलाये हम न आये ऐसे तो नालायक हम नहीं .
हम आ ही गए तो इसमें शुक्रिया की कोई बात नहीं .
हम तो खुद आपके पास आने को थे बेकरार .
बस कर ही रहे थे आपके बुलाने का इन्तेजार ......... .......By.........राज ..5.19 PM
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
2.
ख़ुशी हुई आप की यह प्यारी सी बात सुनकर ,
की ,आप को भी रहती है हमारी बुलावे की इंतज़ार ,
मन में सोचने की देरी , कोई होगा साक्षात्कार ,
हम तो अचम्बे में पड़गए आप को यहां देखकर ................by ........शरू 5.26pm
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
जी हाँ इन्तेजार रहता है बुलावे का बार बार .
उम्मीद रहती शायद मुलाक़ात हो जाये इस बार .
वैसे तो यहाँ पर भी मिलना है आपसे है ख़ास .
पर कभी मुझको सच में बुला लो अपने पास .
...............................................................................By...........राज ..5.38 pm
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
3.
हम तो मिलते हैं सिर्फ यहां और कंही नहीं ,
कोई देख लेते हैं हमें ख्वाबों में इतना ही सही ,
हम यहां आते हैं सिर्फ कविता लिखने ,
ऐसे ही दोस्तों से हो जाती है दो चार बातें ........................by ............शरू ..5.47PM
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
यहां पर लोग मिलते है तुम से
और मिलते है अक्सर ख्वाबो में .
तुम्हारी सुन्दर कविता को हम .
ढूंढते है अक्सर किताबो में .
ख्वाबों में मिलके भरता नहीं अब हमारा दिल
तुम्हे कसम है मेरी कभी हकीकत में मिल .
................................................................................By...........राज ..5.55pm
score: 9.30162
average: 10.0
Ratings: 2
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
999 days ago
Rating: 10
 
 
999 days ago
So beautiful lines
 
 
999 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]