Banaya

by: anand anand (on: Mar 11, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Poem
दर्द दिल से उतर आया, उँगलीयों मे
बूत ए अलफाज़ , आशियाँ बनाया

रुखसत होती गई, सब बलाएँ भी
घौंसला, बखुबी दिल, तुने ये बनाया

होश में कहाँ है, मेरी निगाह तुझ पर
नूर ए नज़र, अंजाम नूराना बनाया

बेताब है, बहेकता ओर महकता दिल
बेवज़ह सही दिल, वजू़द तुने बनाया

माना ये ईबादत है , निगाहें करम दिल
मेरी हयाती का, हौसला बूलंद. बनाया
score: 9.30162
average: 10.0
Ratings: 1
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
990 days ago
very nice
 
 
990 days ago
wonderful
 
 
990 days ago
Rating: 10
 
 
990 days ago
Om
 
[View All Comments]