🔥बेवफ़ा की दोस्‍ती 🔥

by: Chandni ✨ॐ🙏' (on: Apr 8, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Chandnni
बरसात होगी अश्‍क की मेरे लि‍ए कभी।
रोया करेंगेआप भी मेरे लि‍ए कभी।

ढक जायेगी गुलों से मेरी क़ब्र देखना,
ऐसी बहार आएगी मेरे लि‍ए कभी।

ऐ ज़ख्‍़म दे के भूलने वाले ज़रा बता,
मरहम की तूने फ़ि‍क्र की मेरे लि‍ए कभी।

दोज़ख़ बनी है आज वो मेरे फ़ि‍राक़ में,
दुनि‍या जो एक स्‍वर्ग थी मेरे लि‍ए कभी।

'चाँदनी ' न था खयाल कि महँगी पड़ेगी यूँ,
इक बेवफ़ा की दोस्‍ती मेरे लि‍ए कभी।
......................................
'चाँदनी '
score: 9.37792
average: 10.0
Ratings: 3
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
956 days ago
Rating: 10
 
 
960 days ago
bahoot khub..kuch dil medard hai tabhi aysi bate nikali hai ..v nice
 
 
960 days ago
Rating: 10
 
 
961 days ago
निगाहें करम ,बस झुक जाना
फितरत ए फन, फना हो जाना

आती जाती ,लहरें समंदर दिल में
साहिल से आकर ,टकरा ही जाना
 
 
961 days ago
Rating: 9
 
[View All Comments]