💞मैं सोचती रही......💞

by: Chandni ✨ॐ🙏' (on: Apr 19, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Chandnni


मैं सोचती रही रात भर, वो क्या सोचता होगा,
वो अपने दिल की धड़कनों में कहीं खो रहा होगा|

कभी बात करते-करते कोई लफ़्ज़ छिटका होगा,
होंठों पे आते-आते मेरा नाम लौटा होगा|

मुड़-मुड़ के आईने में देखा होगा बार-बार
मुग़ालतन मेरी सूरत खुद में देखता होगा|

क्यों लड़ता है वो मुझसे इतना बरस-बरस कर,
तन्हाईयों में उसका दिल पसीजा तो ज़रुर होगा।

मैं जानती हूँ तुम में, है जुनुन बे-शुमार
तेरी चमक के आगे वो ''चाँदनी'' बुझ गया होगा।
.
......................... ''चाँदनी'' 💞
score:
average:
Ratings:
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!