प्यार

by: Saloni (on: Jul 25, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: ख्यालो , प्यार
लिखते है हम,
उनके लिये ,
जिन्होंने कभी पढ़ा नहीं हमें,
लोग पढ़ते है मेरी शायरी,
और,
खो जाते है ख्यालो में,
कुछ लोग पाने को,
प्यार कहते है,
कुछ लोग खोने को,
प्यार कहते है,
हम तो निभाने को ,
प्यार कहते है।
सलोनी
score: 9.43918
average: 10.0
Ratings: 4
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
108 days ago
कैसी बीती रात किसी से मत कहना,
सपनों वाली बात किसी से मत कहना,
कैसे उठे बादल और कहां जाकर टकराए,
कैसी हुई बरसात किसी से मत कहना।
 
 
108 days ago
Rating: 10
 
 
850 days ago
Thnks a tyon sachin
 
 
850 days ago
Thank u Nisha
 
 
850 days ago
Thanks a lot
 
 
853 days ago
pyar...
 
 
853 days ago
Rating: 10
 
 
854 days ago
Rating: 10
 
 
854 days ago
Beautiful 👍👍
 
 
854 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]