“मै और मेरा दिल”.....!!!!!

by: upendra Singh (on: Aug 28, 2018)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: friends
तनहा बैठे है दोनो.....
“मै और मेरा दिल”
.
तेरी याद मे रहते है दोनो...
“मै और मेरा दिल”
.
शीशे का वजूद और हर हाथ में पत्थर...
सहमे बैठे है दोनो...
“मै और मेरा दिल”
.
ख़ामोशी का सबब जो कोई पूछ ले तो....
तेरा नाम ही लेते है दोनो....
“मै और मेरा दिल”.....!!!!!
score: 9.48946
average: 10.0
Ratings: 5
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
780 days ago
nice1
 
 
780 days ago
Rating: 10
 
 
781 days ago
तन्हाई
 
 
781 days ago
Rating: 10
 
 
781 days ago

शीशे का वजूद और हर हाथ में पत्थर...
सहमे बैठे है दोनो...
“मै और मेरा दिल”
nice
 
 
781 days ago
Rating: 10
 
 
817 days ago
Rating: 10
 
 
819 days ago
wowww.......v well written....“मै और मेरा दिल”.
 
 
819 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]