.विश्व योग दिवस............ 21 june

by: sharu------ . (on: Jun 20, 2019)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Sharuu
.......................विश्व योग दिवस............

सुबह सुबह मेरी दोस्त राज का फ़ोन
याद है क्या .....कल इक्कीस जून ..?
सो व्हाट ..? मई ने पुछा गुस्सा से
अरे पगली यह तो 'विश्व योग दिन '...

क्या तुम कुछ नया लिखे हो ..?
हे, गया साल का ही है न पोस्ट कर दो
लास्ट ईयर का नहीं वोह होगये पांच साल
ताल दिया उसने बिलकुल नहीं है मेरे पास ...

तुम लिख दो न तू तो है योग प्रवीण
लगाने लगा मस्का उसने तू तो जानती है
योग का ए बी सी डी मुझ से बेहतर
बिलकुल नहीं है मेरे पास बनाया बहाना ....

बाल्य से ही जुडगया था योग और मेरी सबंध
कहीं भी हो योग का वर्ग मई होती हाजिर
प्राणायाम में अपनी श्वास पर कर लेती नियंत्रण
आसन करके आसानी से शरीर पर नियंत्रण ...........

सुबह की हवा अम्लजनक से भरपूर
हमारी श्वास कोशको देती है नव चैतन्य
पद्मासन , धनुरासन ,हलासन ,वज्रासन
बना देते हैं बदन को वज्रों से भी कठिन ...........

आवो ,सब मिल के करे योगासन
भगाये रोग करके प्राणायाम
लेंगे एक प्रतिज्ञा आज विश्वयोग के दिन
विश्वबंधुत्व करके दिख्लायेंगे आज के दिन ..........शरू २०.६.१९ ..८ पि एम्









score: 9.30162
average: 10.0
Ratings: 2
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
525 days ago
so nice . Happy Yoga day
 
 
525 days ago
Rating: 10
 
 
525 days ago
tnq bhaskar ji
 
 
526 days ago
Very Timely and nice lines
 
 
526 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]