गिरना भी अच्छा है....

by: 📒My Diary✍❤My Life✍ ✍.. (on: Jul 11, 2019)
Category: Other   Language: Hindi
tags: My Diary...✍✍
"गिरना भी अच्छा है,
औकात का पता चलता है…
बढ़ते हैं जब हाथ उठाने को…
अपनों का पता चलता है!
जिन्हे गुस्सा आता है,
वो लोग सच्चे होते हैं,
मैंने झूठों को अक्सर
मुस्कुराते हुए देखा है…
सीख रहा हूँ मैं भी,
मनुष्यों को पढ़ने का हुनर,
सुना है चेहरे पे…
किताबो से ज्यादा लिखा होता है…!”
score: 9.63124
average: 9.90909
Ratings: 12
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
488 days ago
nice
 
 
488 days ago
Rating: 10
 
 
488 days ago
Wonderful 😊
 
 
488 days ago
Rating: 10
 
 
488 days ago
Rating: 10
 
 
499 days ago
Nice lines 👍
 
 
499 days ago
Rating: 10
 
 
502 days ago
Rating: 1
 
 
502 days ago
मैंने झूठों को अक्सर
मुस्कुराते हुए देखा है…
Very naked truth
 
 
502 days ago
Rating: 10
 
 
504 days ago
Thanks
 
 
504 days ago
very nice
 
 
504 days ago
Rating: 10
 
 
504 days ago
Thank you!
 
 
504 days ago
गिरना भी अच्छा है,
औकात का पता चलता है…
बढ़ते हैं जब हाथ उठाने को…
अपनों का पता चलता है!
...nice said....
 
 
504 days ago
Rating: 10
 
 
504 days ago
Well said😊
 
 
504 days ago
Nice....Badhte hai jab haath uthane ko...
...to Apano ka pata chalta hai...
 
 
504 days ago
Rating: 10
 
 
504 days ago
very true
 
 
504 days ago
Rating: 9
 
 
504 days ago
That's true😊
 
 
504 days ago
सुना है चेहरे पे…
किताबो से ज्यादा लिखा होता है…!”
 
 
504 days ago
Rating: 10
 
 
504 days ago
मैंने झूठों को अक्सर
मुस्कुराते हुए देखा है…
सीख रहा हूँ मैं भी,
मनुष्यों को पढ़ने का हुनर,
सुना है चेहरे पे…
किताबो से ज्यादा लिखा होता है....
 
[View All Comments]