..........क़ुरबानी :-----Qurbaani

by: Rajesh singh (on: Jul 26, 2019)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: RAJ......Phadisher
.............क़ुरबानी :-----Qurbaani

तुम्हारे होते कोई छू भी नहीं सकता देश की सरहद .
दिन रात जो करते हो तुम सीमा की रक्षा चक्कना बेहद .
आँख उठाके देखे दुश्मनो की औकात क्या ?.
घुस आये सीमा के अंदर घुसपेठियो की बिसात क्या ?...

चाहे कियु न हो पहाड़ो का शून्य डिग्री तापमान .
चाहे कियु न हो आग के माफिक जलता रेगिस्तान .
रुकना नहीं सीखा तुमने ओ देश के वीर जवान .
जान देकर भी बचाया है तुमने भारत देश का मान ...

झुकने नहीं दिया तुमने कभी सर भारत का हर हाल .
दांत खट्टे किये दुश्मनो का भारत माँ के लाल .
कभी कभी लगता है की मैं हूँ बड़ा बदनसीब .
देश के लिए सरहद पर मर मिटने का कियु नहीं मेरा नसीब ?

आज विजय दिवस पर अनायास ही आंख में भर गया पानी ,
कारगिल के शहीदो की याद आगयी क़ुरबानी .
जिन शहीदो की वजह से आज हिन्दुस्तान है चमन .
ऐसे शहीदो को है मेरा दिल से कोटि कोटि नमन .
..................................................BY......... राजेश सिंह 26.7.19
score: 9.55145
average: 9.8
Ratings: 11
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
475 days ago
her insan için vatan kutsal,sınırlar namustur.Çok güzel bunu buraya taşıyana teşekkür ederim
 
 
475 days ago
Rating: 10
 
 
476 days ago
Wonderful words
 
 
476 days ago
Rating: 10
 
 
476 days ago
great
 
 
476 days ago
Rating: 10
 
 
476 days ago
Rating: 10
 
 
476 days ago
A wondearful tribute
 
 
476 days ago
Rating: 10
 
 
486 days ago
Thank you for the Wonderful rememberence
 
 
486 days ago
Rating: 10
 
 
489 days ago
NICE INSPIRATIONAL POEM
 
 
489 days ago
Rating: 8
 
 
490 days ago
Rating: 8
 
 
490 days ago
very nice.....
Aise Sahido ko Hai mera dil se koti koti NAMAN.
 
 
490 days ago
Rating: 10
 
 
490 days ago
Rating: 10
 
 
490 days ago
bahut hi sundar prastuti hai RAJ
 
 
490 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]