...विज्ञान दिवस...............

by: Rajesh singh (on: Sep 14, 2019)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Raj -Pahadisher
...........विज्ञान दिवस...............

आज का युग है सिर्फ और सिर्फ विज्ञान का .
विज्ञान के अनोखे चमत्कार का .
मशीन करते हैं इंसान का सारा काम .
इंसान बस बैठा करता है ऐशो आराम .

मोबाइल और कंप्यूटर पर सिमट गयी दुनिया सारी .
मशीनो के सहारे चलती जिंदगी यह हमारी .
हज़ारो किलोमीटर दूर करते हैं हम बातें .
इंटरनेट पर करते हैं अपनों से हम मुलाक़ातें .

दुनिया की खबर मिल जाती है कुछ ही मिनिटो में .
एक देश से दूसरे देश पहुंच जाते है घंटो में .
लेकिन इंसान ने जब विज्ञान को अपनाया .
इंसानो ने इसका है खूब कीमत भी चुकाया .

विज्ञान ही बन बैठा धरती का हैवान .
प्रकृति का भी यारो हुआ भरपूर नुक्सान .
इंसान हो गया पूर्णतया मचिनो का आदि .
मेहनत से जी चुराता शरीर का हुआ बर्बादी .

बेजान और नकारा हो गयी शरीर हमारी .
जाने कहा से आगयी नयी नयी बिमारी .
हर इंसान विज्ञान अपनाने को होगया मजबूर .
इस चक्कर में इंसान होगया अपनों से ही दूर .

हवा पानी और रौशनी रही कहा अब शुद्ध ?
जाने कब छिड़ जाये आपस में आणविक युद्ध .
ये सच है विज्ञान के सहारे विकास किया इंसान .
पर सारा जीवन के विनाश का वजह भी बनेगा विज्ञान .
. .....................................................By... राजेश सिंह 15.9.19

( Vigyaan diwas par vishesh )
score: 9.17898
average: 9.0
Ratings: 1
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
439 days ago
Waah Raju bhaiya,
Kamaal ke kavi ho gaya.
Nikamme sharir me dil ko jagaa dia,
Vigyaan din par yaad kar liyaa hame.

 
 
439 days ago
Rating: 9
 
[View All Comments]