अमावस का चाँद....🌑

by: @shu .🍃 (on: Nov 30, 2019)
Category: Other   Language: Hindi
tags: आशू ....
फासला उम्र का बड़ा है, दिल फिर भी जिद पे अड़ा है ....
सोच ले अब रहनुमा मेरे, तू किस मोड़ पे खड़ा है ....

मंजिलें शायद एक ही हों, पर रास्ते तो अलग-अलग हैं....
रौशनी की है जरूरत तुझे, इधर अमावस का चाँद पड़ा है....
score: 9.48946
average: 10.0
Ratings: 5
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
404 days ago
नामुमकिन सा #मैंने एक #ख्वाब देखा______lll
#ख्वाब में #तुझे मोहब्बत निभाते #देखा____ll..lovely
 
 
404 days ago
Rating: 10
 
 
413 days ago
Rating: 10
 
 
414 days ago
मोहब्बत उमर नहीं देखती, लगाव देखती हैं। ...

सुन्दर रचना। ...◔‿◔
 
 
414 days ago
Rating: 9
 
 
414 days ago
Rating: 10
 
 
417 days ago
🌕 🌕
 
 
417 days ago
🌞🌞
 
 
417 days ago
मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं,
चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए....
 
 
417 days ago
Rating: 10
 
 
417 days ago
चाँद का गुरूर कुछ इस तरह बिखर गया ....
तुम्हारे आते ही जब आसमां निखर गया ....😊
 
[View All Comments]