................तस्वीर तुम्हारी ...........

by: sharu . (on: Dec 1, 2019)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: Sharuu.......n........Raj
..................तस्वीर तुम्हारी .............
1
आँख के पानी को कही भर के रखना
मुश्किल के गड़ी में उसे वापरना
कौन जाने अब कब बारिश का आना
तुम याद करके मुझे कभी न रोना ... .....................BY शरू

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

न जाने कैसे आँखे अपने आप भर आती है ,
बारिश हो न हो ये तो है हमारी तक़दीर ,
हर आंसू को रखेंगे बहुत संभल कर
कियुकी उसमे है तुम्हारी सुन्दर तस्वीर .......................By.राज

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxXXXXX
2
मगर हम बदल भी तो नहीं सकते तक़दीर
भोगना तो है जो दिखते हैं हाथ के लकीर
आंसू के साथ आप का देखा करेंगे तस्वीर
क्या करे जो पागल मन को समझा सके आखिर ......?.....by.. शरू

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

अक्सर तेरी यादो के झरोखे में मे झूल जाता हूँ ,
तेरी याद में मैं साडी दुनिया को भूल जाता हूँ ,
तेरी यादो में रोना मेरी taqdir है तो मुझे है मंजूर ,
यादो के साथ मेरे दिल में बसी हो चाहे मुझसे हो दूर . ......By..राज

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
3
ताकत बना लो हमारी यादों को तुम
कमज़ोर बन के कभी आंसू न बहवो
मर्दों की भाति पीजावो आन्सुवों को .
आन्सुवों से बहुत धान्य पैदा करो ................................BY शरू

xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx

तेरी यादें मेरी कमजोरी नहीं है यार ,
यह आंसू ही है मेरे असली हथियार ,
अस्त्र शास्त्र का भला मुझे क्या काम ,
हमने तो सीखा है करना सिर्फ प्यार . ...........................By, राज
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
score: 9.39987
average: 9.55556
Ratings: 10
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
45 days ago
दिल छू लेने वाली अभिव्यक्ति
 
 
45 days ago
Rating: 10
 
 
407 days ago
Rating: 10
 
 
415 days ago
यादों के झरोखों में एहसास जगाये रखिए,
उम्मीद पे कायम है, जमाने में सभी जज्बात,
इस मौहब्बत की दिल में जगाये रहिए
 
 
415 days ago
Rating: 5
 
 
415 days ago
Rating: 10
 
 
415 days ago
NICE
 
 
415 days ago
Nice
 
 
415 days ago
Rating: 10
 
 
416 days ago
मर्मस्पर्शी रचना ।
 
 
416 days ago
Rating: 7
 
 
416 days ago
very Nice.......आंसू के साथ आप का देखा करेंगे तस्वीर
क्या करे जो पागल मन को समझा सके आखिर ......?.....by.. शरू
 
 
416 days ago
Rating: 10
 
 
416 days ago
Nice
 
 
416 days ago
Rating: 10
 
 
416 days ago
Very nice
 
 
416 days ago
Rating: 10
 
 
416 days ago
Nice
 
 
416 days ago
Rating: 9
 
[View All Comments]