~~ कल जब जीवन के पन्नों पर,तुम पीछे को जाओगे~~

by: S~🎵u🎶Ki🎶rt🎵~i .... (on: Jan 28, 2020)
Category: Other   Language: Hindi
tags: Sukirtisssssssss
पलकों पर होंगी बूंदें,पर मंद-मंद मुस्काओगे।।

वो भी क्या दिन थे जब,संदेशों में बातें होती थीं।
हम दोनों थे खोये रहते,दुनियाँ की रातें होती थीं।।

उन बीती घड़ियों में जब कदम कदम मैं साथ चलूंगी।
फिर अपनी जिद पर शायद,मन ही मन पछताओगे।।

मैं कैसे कैसे मन में स्वप्न सजाया करती थी।
तेरी मोहक बातों में मैं खो जाया करती थी।।

अस्तित्व मिटाया मैंने,तेरा रूप सजाने को।
अब बोलो आईना कैसे,जान मेरी झुठलाओगे।।

क्यों मेरा था दामन छोड़ा,बस इतना समझाकर जाते।
मैंने था यह जीवन सौंपा,इसको आग लगाकर जाते।।

तुम खुश हो यह सोच सोच,मैनें खुद को बहलाया है।
तुम बतलाओ कैसे,अपने मन को समझाओगे।।

कल जब जीवन के पन्नों पर,तुम पीछे को जाओगे। ‌‌‌
score: 9.43918
average: 10.0
Ratings: 4
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
365 days ago
real life ....kya bat hai very good,
 
 
365 days ago
Rating: 10
 
 
365 days ago
Rating: 10
 
 
365 days ago
मैंने था यह जीवन सौंपा,इसको आग लगाकर जाते....
 
 
365 days ago
तुम खुश हो यह सोच सोच,मैनें खुद को बहलाया है।
 
 
365 days ago
तुम बतलाओ कैसे,अपने मन को समझाओगे....
 
 
365 days ago
Rating: 10
 
 
365 days ago
कल जब जीवन के पन्नों पर,तुम पीछे को जाओगे।|
 
 
365 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]