MISSING HOME...

Category: Other   Language: Hindi
tags: My Diary...
घर की जब याद आती है...
सच यार घर की जब याद आती है,
उस वक़्त आंखो से आँसू से रुक नहीं पाती है,
बहोत याद आते है!
वो घर,वो गलियां
वो दोस्त,वो नदानिया
न जाने कब और कहाँ,
छूट गई वो बचपन और वो शैतानिया,

सच यार घर की जब याद आती है,
माँ तू और तेरी कमी हमेशा रह जाती है,
काश,काश की लौट पाता उस बचपन में,
माँ तू फिर से मुझे सवारती,
और दुलारती उस पल में,
सच माँ तेरी कमी यहाँ
बहोत रहती है,
तेरे बिन पल-पल
बहोत मुश्किल से कटती है,
माँ कोई नहीं पूछने वाला
यहाँ तेरे लाल से,
की खाना खाया की नहीं,
भूख लगी है या नहीं,
सच माँ तेरे वो
जबरजस्ती खाना खिलाने
में भी बहोत प्यार नजर आता है,
माँ जैसा कोई नहीं
ये तुझसे दूर होने के बाद
आज महसूस हो पाया है,
सच माँ तेरी कमी यहाँ
बहोत रहती है,
तेरे बिन पल-पल
बहोत मुश्किल से कटती है,

सच यार घर की जब याद आती है,
घर से दूर रहना
क्या होता है,
उस वक़्त पता चल जाती है,
घर को अपने फैमली को
मिस करना उनसे पूछो
जो घर से दूर रहते है,
बिन माँ-बाप,बिन दोस्तों
के न जाने उनके पल
कैसे कटते है.....
score: 9.56709
average: 10.0
Ratings: 7
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
19 days ago
Rating: 10
 
 
33 days ago
Thanks to all
 
 
44 days ago
घर की जब याद आती है...
सच यार घर की जब याद आती है,
उस वक़्त आंखो से आँसू से रुक नहीं पाती है,
बहोत याद आते है!
वो घर,वो गलियां
वो दोस्त,वो नदानिया
न जाने कब और कहाँ,
छूट गई वो बचपन और वो शैतानिया,
Very Very Nice....
 
 
44 days ago
Rating: 10
 
 
45 days ago
GOOD 1
 
 
45 days ago
Rating: 10
 
 
45 days ago
Too good
 
 
45 days ago
Rating: 10
 
 
45 days ago
Superb
 
 
45 days ago
Rating: 10
 
 
45 days ago
Baate bhul jate hai Yaadein Yaad aati hai. Beautiful
 
 
45 days ago
Rating: 10
 
 
46 days ago
 
 
46 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]