.जुगल बंदी .....। दोस्ती

by: sharu . (on: Nov 12, 2020)
Category: Poem   Language: Hindi
tags: SHARUU..N..NARASIMHA
................जुगल बंदी .....। दोस्ती ..........................
1
जब मेरा आंगन फूल खिलते है
जब हवा चुके मेरा बदन चलते हैं
जब दूरसे कोई आवाज़ हमें देते है
तब तब तुम यादआते हो सखी ......................by नरसिम्हा
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
फूलों की नरमी में भी हम है
सूरज की गर्मी में भी पावो हमें
तूफान की रफ़्तार से है तेज़ हम
रोक लो हमें कहीं आगे निकल न जाए ..................by शरू
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
2.
जैसे तेरे मेरे ये बेदाग दोस्ती
वैसे माझी और उनका कस्ती
ऐसे कोई किसीको न छोड़े टूट के
बांध लो एक अटूट बंधन में हमें ….....................by narasimha
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
अगर होगी सच्चाई हमारी दोस्ती में
राम और हनुमान भी हो सकते हैं
कृष्णा और द्रौपदी भी बन सकते हैं
कृष्णा सुदाम भी कहला सकते हैं ........................by शरू
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
3.
सखी पता नहीं यह दोस्ती क्या होती
दोस्ती किस्से कहता है न मालुम
जब आप मिले तो में था अकेले
अभी मेरा दोस्त साथ है यही है ख़ुशी
में तो अभी दुनिया बदल सकता हु .....................by नरसिम्हा
xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
दोस्त जब साथ होते हैं सुनो तो
अपने आप में एक विश्वास होती है
हम अकेला नहीं यह एहसास ही काफी
दोस्त को हम चुन थे हैं भगवान नहीं ....................by शरू.......
score: 9.48946
average: 10.0
Ratings: 5
 
« send to friends»
URL (link) to this writing. You can copy and paste this in your email to send to your contacts:
 
Not good
Ok
Excellent!
 
 
 

Comments

[View All Comments]
 
69 days ago
tnx preeti...jaswant ji ..n..rp singh ji .....so kind of u
 
 
69 days ago
Rating: 10
 
 
69 days ago
अगर होगी सच्चाई हमारी दोस्ती में
राम और हनुमान भी हो सकते हैं !
SUPERB !!
 
 
69 days ago
Rating: 10
 
 
70 days ago
nice
 
 
70 days ago
Rating: 10
 
 
70 days ago
tnq...Dr. gaur.....n.....MISHRA JI
 
 
70 days ago
Yeh, Maatra Jugalbandi Hi Nahi Ek Uccha Koti Ke Visharon Ki Kavita Hai. Bahut Bahut Dhanyad !!
 
 
70 days ago
Rating: 10
 
 
70 days ago
अगर होगी सच्चाई हमारी दोस्ती में
राम और हनुमान भी हो सकते हैं
कृष्णा और द्रौपदी भी बन सकते हैं
कृष्णा सुदाम भी कहला सकते हैं
 
 
70 days ago
So nice।
 
 
70 days ago
Rating: 10
 
[View All Comments]